भारत में 60% ATM पर मंडरा रहा है खतरा, कभी भी हो सकते हैं साइबर हमले के शिकार

  • भारत में 60% ATM पर मंडरा रहा है खतरा, कभी भी हो सकते हैं साइबर हमले के शिकार
You Are HereBusiness
Tuesday, May 16, 2017-2:40 PM

नई दिल्लीः भारत में 60 फीसदी ए.टी.एम. हाई रिस्‍क पर हैं जो कभी भी साइबर हमले के शिकार हो सकते हैं। इसका कारण यह है कि भारत में अभी ज्‍यादातर ए.टी.एम. विंडोज xp पर चल रहे हैं जो कि काफी पुराना सॉफ्टवेयर है। ऐसे में हैकर्स के लिए इन पर अटैक करना आसान है। देश में 2 लाख से अधिक ए.टी.एम. हैं, ऐसे में 1.25 लाख से अधिक पर साइबर हमले का खतरा है।    

माइक्रोसॉफ्ट ने जारी की एडवाइजरी 
माइक्रोसॉफ्ट ने शुक्रवार को हुए साइबर हमले के बाद एक ब्‍लॉग पोस्‍ट जारी किया है। इसमें उसने बताया है कि जो कस्‍टमर विंडोज 8, विंडोज XP और विंडोज 2003 अभी भी यूज कर रहे हैं, तो उन्‍हें इस साइबर हमले से सतर्क रहने की जरूरत है। कंपनी ने इन कस्‍टमर्स के लिए एक पैच भी जारी किया है, जिसे माइक्रोसॉफ्ट की वैबसाइट पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है। 

डैबिट कार्ड का डाटा हुआ था चोरी
SBI के पूर्व सीजीएम सुनील पंत ने बताया कि कुछ माह पहले बड़े पैमाने पर डैबिट कार्ड का डाटा चोरी हुआ था। इसका कारण था कि ए.टी.एम. का बैंकएंड मैनेजमेंट करने वाली कंपनी हिताची का स्विच उतना मजबूत नहीं था। इसकी वजह से डैबिट कार्ड का डाटा चोरी हो गया था।

बैंक रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों पर नहीं कर रहे हैं अमल
पंत का कहना है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आर.बी.आई.) ने साइबर सुरक्षा पर बैंकों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे। इसके बावजूद बहुत से बैंक इस दिशा-निर्देश पर अमल नहीं कर रहे हैं।   

बैंक विंडोज xp को कर रहे हैं अपडेट
पंजाब नैशनल बैंक (पी.एन.बी.) के एक वरिष्‍ठ अधिकारी का कहना है कि पी.एन.बी. ने बड़े पैमाने पर अपने ए.टी.एम. में विंडोज xp को लेटेस्‍ट वर्जन से अपडेट किया है। हालांकि अब भी कुछ ए.टी.एम. विंडोज xp पर चल रहे हैं।   

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You