देश में 826 आवासीय परियोजनाएं चल रही हैं तय समय से पीछेः एसोचैम

  • देश में 826 आवासीय परियोजनाएं चल रही हैं तय समय से पीछेः एसोचैम
You Are HereBusiness
Monday, April 10, 2017-4:34 PM

नई दिल्ली: देश में ज्यादातर आवासीय परियोजनाएं समय से पूरी नहीं हो पा रही है। एसोचैम की रिपोर्ट के अनुसार देश में 826 आवासीय परियोजनाएं तय समय से काफी पीछे चल रही हैं। जिन राज्यों में आवासीय परियोजनाएं ज्यादा लंबित हैं उसमें सबसे आगे पंजाब है। इसके बाद तेलंगाना और पश्चिम बंगाल का नंबर आता है।

39 महीने की देरी से चल रही हैं परियोजनाएं
एसोसिएटेड चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (एसोचैम) की रिपोर्ट में कहा गया, “दिसंबर 2016 के अंत में 3511 परियोजनाएं निर्माण व रियल एस्टेट सेक्टर में अस्तित्व में थीं। क्रियान्वन के अधीन परियोजनाओं में से 886 निर्माण व रियल एस्टेट परियोजनाएं ज्यादा देरी से चल रही हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि विलंबित 886 परियोजनाओ में 826 परियोजनाएं आवासीय निर्माण की और 60 व्यवसायिक परिसर की हैं। औसत रूप से निर्माण और रियल एस्टेट परियोजनाएं लगभग 39 महीने की देरी से चल रही हैं।”

पंजाब में प्रोजैक्टस सबसे ज्यादा लेट
एसोचैम के महासचिव डी.एस रावत ने कहा, “उम्मीद है कि आर.बी.आई. की ओर से बैंकों को रियल एस्टेट इंवेस्टमेंट ट्रस्ट में निवेश की अनुमति दिए जाने के बाद इस सेक्टर में निवेश में सुधार होगा और इसके कारण परियोजनाओं में तेजी आएगी साथ ही कस्टमर्स का विश्वास भी बढ़ेगा।” बड़े राज्यों में पंजाब रिकॉर्ड स्तर के साथ आगे है जहां निर्माण एवं रियल एस्टेट परियोजनाएं सबसे ज्यादा 48 महीने की देरी से चल रही हैं। इसके बाद तेलंगाना 45 महीने, पश्चिम बंगाल 44 महीने, ओडिशा 44 महीने और हरियाणा में 44 महीने पीछे चल रही हैं। इसी तरह मध्यप्रदेश, आंध्रप्रदेश और उत्तरप्रदेश में परियोजनाएं कई महीने लेट चल रही हैं जबकि महाराष्ट्र में 39 महीने की देरी दर्ज की गई है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You