अर्थव्यवस्था के सुधार का लाभ उठाने के लिए ‘एक अलग तरह का भारत’ तैयार: जेटली

  • अर्थव्यवस्था के सुधार का लाभ उठाने के लिए ‘एक अलग तरह का भारत’ तैयार: जेटली
You Are HereBusiness
Friday, October 13, 2017-4:49 PM

वाशिंगटनः वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में आ रहे मजबूत सुधार का लाभ उठाने के लिए एक ‘अलग तरह का भारत’ तैयार है।  भारत में हाल के महीनों में कई तरह के सुधार किए गए हैं।  नोटबंदी और माल एवं सेवाकर के अलावा नियमों और प्रक्रियाओं को सरल बनाया गया है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुख्यालय पहुंचने के बाद अपने पहले सार्वजनिक संबोधन में जेटली ने आई.एम.एफ. की प्रमुख क्रिस्टीन लैगार्ड और विश्वबैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम के उस वक्तव्य का समर्थन किया कि विश्व अर्थव्यवस्था में एक मजबूत सुधार दिखाई दे रहा है।

किम ने कहा, ‘‘कई सालों की असंतोषजनक वृद्धि के बाद वैश्विक आॢथक वृद्धि सुधार के रास्ते पर है।’’  एक अलग प्रेसवार्ता में क्रिस्टीन ने कहा कि उन्हें इस साल और अगले साल बेहतर वैश्विक आॢथक वृद्धि की उम्मीद है। यहां आईएमएफ के मुख्यालय में उद्योग संगठन फिक्की की एक संगोष्ठी में जेटली ने कहा कि जहां तक अर्थव्यवस्था की बात है तो ‘सभी संकेत बताते हैं कि दुनियाभर में सकारात्मक माहौल है।’

पिछले तीन साल बहुत ही मुश्किल भरे थेः जेटली
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने माना कि पिछले तीन साल बहुत ही मुश्किल भरे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि विश्व अर्थव्यवस्था आगे बढ़ती है तो उसका मांग पर परिणामी असर होगा और वैश्विक अर्थव्यवस्था से जुड़े होने की वजह से भारत पर भी इसका असर होगा।  जिस तरह वह भारतीय अर्थव्यवस्था को देखते हैं तो आने वाले महीनों और साल में यह संभाविक तौर पर ऊपर बढ़ेगी।उन्होंने कहा कि भारत में अब बेहतर अवसर हैं।

जेटली ने कहा, ‘‘इसमें पहला कारक होता है क्या हम लोगों को आने की अनुमति देते हैं।  निश्चित रुप से एक देश के तौर पर हमने देश में और अधिक निवेश के महत्व को महसूस किया है।  हमने कई सालों में प्रक्रियाबद्ध तरीके से अपनी नीतियों को आसान बनाया है और हम संभावित तौर पर दुनिया की सबसे उदार अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।’’   उन्होंने कहा कि भारत सिर्फ उदार नहीं हुआ है बल्कि इसने प्रवेश की प्रक्रिया को भी आसान बनाया है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You