सभी प्रॉपर्टी की जानकारी हो ऑनलाइन, इन लोगों को होगा ज्यादा फायदा

  • सभी प्रॉपर्टी की जानकारी हो ऑनलाइन, इन लोगों को होगा ज्यादा फायदा
You Are HereBusiness
Saturday, April 15, 2017-12:49 PM

नई दिल्लीः अतिक्रमण और बेनामी संप‌ित्‍त्‍ा को लेकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने प्रॉपर्टी की जानकारी ऑनलाइन करने को कहा है। जिसका यूजरनेम और पासवर्ड प्रॉपर्टी के मालिक के पास होना जरुरी है। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने अवैध कब्जों, बेनामी संपत्ति और भू-माफिया को लेकर अहम आदेश जारी करते हुए हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ की सभी प्रॉपर्टी का ब्यौरा ऑनलाइन करने के आदेश दिए हैं।

विदेश में बसे भारतीयों को होगा ज्यादा फायदा
हाईकोर्ट ने इस दिशा में अहम आदेश दिए हैं, जिससे हर तरह की प्रॉपर्टी पर नजर रखना आसान हो जाएगा। हाईकोर्ट ने हरियाणा, पंजाब और यू.टी. प्रशासन को आदेश जारी कर टिप्पणी की कि लोगों की खून-पसीने की कमाई से बनाई गई संपत्ति को कब्जों से बचाने के लिए अभी तक कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है। हाईकोर्ट ने कहा कि रिकार्ड को सही तरीके से अपडेट करने की जरूरत है, जिससे प्रॉपर्टी के मालिकों को भी इससे जुड़ी ट्रांजैक्शन की जानकारी ऑनलाइन ही उपलब्ध हो सके। अदालत ने कहा कि इसका सबसे ज्यादा फायदा एन.आर.आई. को मिलेगा क्योंकि वे अपनी संपत्ति से बेहद दूर हैं और अक्सर वापस आने पर पता चलता है कि संपत्ति पर कब्जा हो गया है या इसे बेचा जा चुका है। ऐसे में एक ठोस प्रणाली बनाने की जरूरत है, जिससे उन्हें उनकी संपत्ति के रिकार्ड से जुड़ा एक्सेस दिया जा सके। ऐसा केवल तभी हो सकता है जब इस रिकार्ड को डिजिटल कर ऑनलाइन किया जाए।

अधिकारियों और कर्मियों को दें ट्रेनिंग
प्रॉपर्टी संबंधी मामलों में अफसरों को ट्रेनिंग प्रोग्राम के जरिए इस प्रकिया की जानकारी दी जाए ताकि वे रिकार्ड व इससे जुड़ी सेवाओं को प्रदान करने में और अधिकका मानना है कि अफसरों को अपडेट नहीं किया जा रहा है और ऐसे में ट्रेनिंग प्रोग्राम ही ऐसा जरिया है, जिससे उन्हें नई तकनीक से फ्रेंडली बनाया जा सके।

यूजरनेम और पासवर्ड दिया जाए
कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ ऐसा सिस्टम तैयार करें, जिससे व्यक्तिगत संपत्ति से जुड़ी जानकारी को ऑनलाइन किया जा सके। इस संपत्ति से जुड़ी जानकारी, मालिकाना हक और बाकी दस्तावेजों का इसके मालिक को एक्सेस देने के लिए उन्हें यूजरनेम व पासवर्ड मुहैया करवाया जाए। इससे एक ओर जहां मालिक को उसकी संपत्ति से जुड़ी हर जानकारी मिल जाएगी, वहीं किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी से बचना आसान हो जाएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You