Apple india की रेवेन्‍यू ग्रोथ 6 साल में सबसे धीमी, 2016-17 में कमाए 11,618.7 करोड़

  • Apple india की रेवेन्‍यू ग्रोथ 6 साल में सबसे धीमी, 2016-17 में कमाए 11,618.7 करोड़
You Are HereBusiness
Wednesday, December 13, 2017-5:51 PM

नई दिल्लीः एप्‍पल इंडि‍या का रेवेन्‍यू 2016-17 के दौरान 11,618.7 करोड़ रुपए रहा। भारत में कंपनी के रेवेन्‍यू में सालाना आधार पर 17 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई। बीते फाइनेंशि‍यल ईयर में एप्‍पल इंडि‍या का रेवेन्‍यू 9,937 करोड़ रुपए था। हालांकि‍, कॉरपोरेट अफेयर्स के तहत रजि‍स्‍ट्रार ऑफ कंपनीज के साथ उपलब्‍ध डाटा के मुताबि‍क,  कंपनी की रेवेन्‍यू ग्रोथ छह साल में सबसे धीमी रही है। 2015-16 के दौरान एप्‍पल की सेल्‍स ग्रोथ सालाना आधार पर 53 फीसदी रही।  
 
बीते 5 साल में एप्‍पल की ग्रोथ
2011-12 से 2015-16 के बीच एप्‍पल इंडि‍या की ग्रॉस सेल्‍स की ग्रोथ सालाना आधार पर 40 फीसदी से ज्‍यादा रही है। साल 2011-12 में यह ग्रोथ 223 फीसदी रही लेकि‍न 2014-15 में ग्रोथ 43.8 फीसदी पर आ गई, जोकि‍ इस दौरान की सबसे कम ग्रोथ रही। एप्‍पल की ग्‍लोबल सेल्‍स में भारत से आने वाला रेवेन्‍यू करीब 0.8 फीसदी। दो साल पहले यह हि‍स्‍सा 0.5 फीसदी से भी कम था। 
 
बढ़ रहा है वॉल्‍यूम
कैलेंडर ईयर 2016 के दौरान आईफोन की सेल्‍स रि‍कॉर्ड 25 लाख यूनि‍ट्स रही। सालाना आधार पर इसकी ग्रोथ 30 फीसदी रही। एनालि‍स्‍ट फर्म काउंटरप्‍वाइंट रि‍सर्च के अनुमानों के मुताबि‍क, इस साल कंपनी की सेल्‍स 35 लाख रहेगी जोकि‍ 2016 के मुकाबले 40 फीसदी ज्‍यादा है। हालांकि‍, एनालि‍स्‍ट कह रहे हैं कि‍ कंपनी का देश में वॉल्‍यूम को लेकर बढ़ते फोक्‍स से रेवेन्‍यू ग्रोथ पर असर पड़ सकता है।  
 
नोटबंदी का दिखा असर
सूत्रों ने कहा कि‍ माइक्रो ईकोनॉमि‍क फैक्‍टर जैसे नोटबंदी का असर कंपनी के ग्रोथ प्‍लान पर पड़ा। अनुमानों के मुताबि‍क, एप्‍पल ने फेस्‍टि‍व सीजन के दौरान ज्‍यादा सेल्‍स की उम्‍मीद में अक्‍टूबर-दि‍संबर 2016 क्‍वार्टर के दौरान करीब 8 लाख आईफोन मंगवाए। यह महीने एप्‍पल के लि‍ए भारत के साथ-साथ दुनि‍या भर की सेल्‍स के लि‍ए अहम रहते हैं क्‍योंकि‍ कस्‍टमर्स नए लॉन्‍च का इंतजार करते हैं। लेकि‍न बीते साल पीक सीजन में रि‍टेल लेवल पर आईफोन और मैकबुक पर असर पड़ा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You