'महंगाई पर नियंत्रण के लिए आरबीआई बचनबद्ध'

  • 'महंगाई पर नियंत्रण के लिए आरबीआई बचनबद्ध'
You Are HereBusiness
Sunday, August 18, 2013-3:50 AM

नई दिल्लीः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गर्वनर डी. सुब्बाराव ने शनिवार को कहा कि आरबीआई मूल्य स्थिरता के साथ ही विकास को लेकर भी चिंतित है, और यह कहना अनुचित और गलत होगा कि केंद्रीय बैंक महंगाई के पीछे पागल है।

सुब्बाराव ने कहा, आरबीआई की मौद्रिक नीति के तीन उद्देश्य हैं -मूल्य स्थिरता, विकास और वित्तीय स्थिरता। यह कहना कि रिजर्व बैंक महंगाई को लेकर अत्यधिक चिंतित है, और विकास की चिंता नहीं कर रही है, मुझे लगता है ये दोनों बाते गलत और अनुचित हैं। उन्होंने कहा, आरबीआई महंगाई पर नियंत्रण करने के लिए प्रतिबद्ध है, इसलिए नहीं कि इसे विकास की चिंता नहीं है, बल्कि इसलिए कि इसे विकास की चिंता है।

सुब्बाराव का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब भारतीय उद्योग जगत के साथ ही सरकार के एक वर्ग से आरबीआई पर नीतिगत दरों में कटौती करने के लिए भारी दबाव है, ताकि आर्थिक वृद्धि दर में तेजी आए, जो कि एक दशक के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है। सुब्बाराव ने कहा कि विकास और महंगाई के बीच दुविधा को लेकर हो रही बहस, आरबीआई की भूमिका का अत्यंत सरलीकरण करने का परिणाम है। 

उन्होंने कहा, ‘‘यह बहस कुछ गलत धारणाओं के कारण गहरा गई है। एक गलत धारणा यह है कि विकास का दायित्व सरकार पर और मूल्य स्थिरता का दायित्व आरबीआई के जिम्मे है। एक अन्य गलत धारणा इस बात पर जोर देना है कि विकास और महंगाई के बीच तनाव की स्थिति है, और किसी न किसी को अनिवार्यरूप से नीति निर्माण में विकास और महंगाई के बीच द्वंद्व की भूमिका निभानी है।’’

सुब्बाराव ने ये बातें प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के रेस कोर्स मार्ग स्थित आधिकारिक निवास पर ‘रिजर्व बैंक ऑफ इंडियाज हिस्ट्री वॉल्यूम 4’ को जारी करने के लिए आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। प्रधानमंत्री ने पूर्व आरबीआई गवर्नर बिमल जालान की अध्यक्षता वाली सलाहकार समिति के दिशानिर्देशन में लिखी गई इस पुस्तक का लोकार्पण किया।

इस समिति के सदस्यों में पूर्व डिप्टी गवर्नर द्वय सुबीर गोकर्ण और राकेश मोहन, पूर्व कार्यकारी निदेशक ए. वासुदेवन, भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोलकाता के अमित्व बोस, और इंदिरा गांधी विकास अनुसंधान संस्थान, मुंबई के दिलीप नचाने शामिल हैं। सुब्बाराव का कार्यकाल चार सितंबर को समाप्त हो रहा है। उन्होंने यह जोर देकर कहा कि विकास के लिए महंगाई पर नियंत्रण आवश्यक है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You