राष्ट्रीय नीति में खाद्यान्न उत्पादन को उच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए: प्रणव

  • राष्ट्रीय नीति में खाद्यान्न उत्पादन को उच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए: प्रणव
You Are HereBusiness
Tuesday, August 20, 2013-2:58 AM

 नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज कहा कि राष्ट्रीय नीति में खाद्यान्न उत्पादन को ‘‘उच्च प्राथमिकता’’ मिलनी चाहिये क्योंकि गरीबों और जररतमंदों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए और अधिक कदम उठाये जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि भूख मिटाने की लड़ाई पूरी दुनिया में जारी है इसके लिए सभी देशों के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने इस क्षेत्र में विशेषकर मौसम भविष्यवाणी के संदर्भ में प्रौद्योगिकियों के अधिक इस्तेमाल की व्यापक आवश्यकता पर जोर दिया।

गेहूं के रतुआ रोग पर एक कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए मुखर्जी ने कहा, दुनिया में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां भोजन की कमी बनी हुई है। गरीबों और जरूरतमंदों तक भोजन की पहुंच को सुनिश्चित करने के लिए अधिक कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि गरीबी उन्मूलन और ग्रामीण रोजगार को अधिक उत्पादन के जरिये हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा, राष्ट्रीय नीति बनाने की प्रक्रिया में खाद्यान्न उत्पादन को अधिक उंची प्राथमिकता मिलनी चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You