कंपनियों लागत बचाने के लिये रोजगार में कर रही कटौती

  • कंपनियों लागत बचाने के लिये रोजगार में कर रही कटौती
You Are HereBusiness
Tuesday, August 20, 2013-11:33 PM

नई दिल्ली: कठिन आर्थिक परिस्थितियों के बीच कंपनियां लागत कम रखने के लिये रोजगार में कटौती कर रही हैं और अपने श्रमबल को तर्कसंगत बना रही हैं। वाणिज्य एवं उद्योग मंडल एसोचैम के एक अध्ययन में यह खुलासा हुआ है।

इसमें कहा गया है कि आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है। आर्थिक सुस्ती का रोजगार पर असर पर तेयार इस अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है बैंकों के पास कर्ज के पुनर्गठन के लिये जाने वाली कंपनियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इनमें से कईयों को अपने श्रमबल को भी तर्कसंगत बनाने और लागत बचाने के लिये रोजगार में कटौती करने पर मजबूर होना पड़ रहा है। कठिन आर्थिक परिवेश के चलते कंपनियों को अधिक लागत वहन करना मुश्किल हो रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार ज्यादा दुखद पहलू यह है कि आने वाले दिनों में स्थिति सुधरने के बजाय और बिगड़ सकती है। आने वाले सप्ताहों में कंपनियों का दर्द और बढ़ सकता है। अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार रोजगार के अवसर में कटौती करने अथवा उसे तर्कसंगत बनाने वाली कंपनियों में ढांचागत, रत्न एवं आभूषण, शैक्षणिक निदान, रीएल्टी, गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियां विशेषकर स्वर्ण-रिण वर्ग में, मीडिया और जनसंपर्क क्षेत्र की कंपनियां अधिक हें।

रिपोर्ट के अनुसार यदि आने वाले दिनों में स्थिति में सुधार नहीं आता है तो दूसरे क्षेत्रों में भी नकारात्मक असर पड़ सकता है। उपभोक्ता सामान, इलेक्ट्रॉनिक गेजेट्स और यात्री कारों जैसे क्षेत्रों पर भी असर पड़ सकता है। इन क्षेत्रों में बेहतर कामकाज तभी होता है जब रोजगार के क्षेत्र में तरक्की होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You