रिलायंस कैपिटल प्रस्तावित बैंक को तीन साल में सूचीबद्ध करेगी: अंबानी

  • रिलायंस कैपिटल प्रस्तावित बैंक को तीन साल में सूचीबद्ध करेगी: अंबानी
You Are HereBusiness
Tuesday, August 27, 2013-3:54 PM

मुंबई: उद्योगपति अनिल अंबानी ने आज भरोसा जताया कि मुनाफे वाले बैंकिंग उद्यम की स्थापना की जाएगी और कहा कि प्रस्तावित बैंक की मदद से रिलायंस कैपिटल का ऋण मौजूदा स्तर से घटकर चौथाई स्तर पर रह जाएगा और इसे अगले तीन साल में एक अलग कंपनी के तौर पर सूचीबद्ध कराया जाएगा।

 

रिलायंस कैपिटल के शेयरधारकों को संबोधित करते हुए अंबानी ने कहा कि प्रस्तावित बैंकिंग कंपनी का जो तुरंत फायदा होगा वह यह होगा कि कंपनी का समेकित कर्ज 20,000 करोड़ रुपए से घटकर 5,000 करोड़ रुपए रह जाएगा। रिलायंस कैपिटल के चेयरमैन ने कहा ‘‘बैंक की दीर्घकालिक वृद्धि की संभावनाओं के अलावा प्रस्तावित बैंक मुनाफा कमाने वाला संस्थान होगा और इसका आपकी कंपनी को जो तुरंत फायदा होगा वह यह कि हमारे तमाम वाणिज्यिक वित्त व्यावसाय को प्रस्ताविक बैंक में स्थानांतरित करने से हमारा समेकित कर्ज 20,000 करोड़ रुपए से घटकर 5,000 करोड़ रुपए रह जाएगा।’’

 

रिलायंस कैपिटल ने नए बैंक लाइसेंस के लिए रिजर्व बैंक को जून में आवेदन सौंपा है। रिलायंस कैपिटल उन 26 उद्योगों में शामिल हैं जिन्हांने बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है। रिलायंस कैपिटल पहले से ही बीमा, म्युचुवल फंड और ब्रोकरेज क्षेत्र में कारोबार कर रहा है। अंबानी ने कहा कि समूह के बैंकिंग क्षेत्र में पांव रखने से रिलायंस कैपिटल का ऋण-इक्विटी अनुपात समूचे उद्योग जगत के मानक से भी बेहतर होकर 0.5 से 1 के स्तर पर आ जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि कंपनी के पास पूंजी की तंगी नहीं है और प्रस्तावित बैंक के लिए रिलायंस कैपिटल के शेयरधारकों को शुरुआती पूंजी देने के लिए कहने की कोई योजना नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You