जी20 ने संरक्षणवाद के खिलाफ संकल्प दोहराया

  • जी20 ने संरक्षणवाद के खिलाफ संकल्प दोहराया
You Are HereBusiness
Saturday, September 07, 2013-4:10 PM

सेंट पीटर्सबर्ग: समूह 20 के नेताओं ने वैश्विक व्यापार और निवेश के रास्ते में आने वाली अड़चनों और रुकावटों को दूर करने का संकल्प दोहराया है। जी20 देशों ने इस दिशा में प्रगति की समयसीमा 2016 तक बढ़ा दी। विकसित और विकासशील देशों के इस समूह की यहां हुई दो दिवसीय बैठक में इस बात को स्वीकार किया गया कि संरक्षणवाद से आर्थिक मंदी और व्यापार में कमी का जोखिम बढ़ा है।

सम्मेलन की समाप्ति पर जारी 27 पृष्ठ के घोषणापत्र में सभी देशों ने नये संरक्षणवादी उपायों को वापस लेने का अपना संकल्प दोहराया है। जी20 के नेताओं ने संकल्प लेते हुए कहा है ‘‘इस संकल्प के साथ हम विश्व व्यापार संगठन के जरिए संरक्षणवादी गतिविधियों में और कमी लाने पर जोर देते हैं।’’ जी20 ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के सभी सदस्यों को मौजूदा मतभेदों  को समाप्त कर व्यापार सुविधाओं और कृषि एवं विकास जैसे कुछ मुद्दों पर लचीलापन दिखाते हुए दिसंबर में बाली में होने वाली डब्ल्यूटीओ मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में संतुलित और सकारात्मक परिणाम पर पहुंचने का आह्वान किया है।

घोषणापत्र में कहा गया है ‘‘इससे दोहरा विकास एजेंडा को आगे बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी और यह बहुपक्षीय व्यापार के उदारीकरण में महत्वपूर्ण कदम होगा। बाली सम्मेलन में बनने वाली इस सहमति से बाद के सम्मेलनों में नये विश्वास का माहौल बनेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You