प्याज का निर्यात 81 प्रतिशत घटा

  • प्याज का निर्यात 81 प्रतिशत घटा
You Are HereBusiness
Monday, September 09, 2013-3:59 PM

नई दिल्ली: प्याज की घरेलू स्तर पर आसमान छूती कीमतों को देखते हुए सरकार की ओर से विदेशों में इसकी बिक्री पर लगाई गई बंदिशों के कारण अगस्त माह में प्याज निर्यात में 81 प्रतिशत की भारी गिरावट दर्ज हुई। अगस्त में देश से कुल 29247 टन प्याज का निर्यात किया गया जो कि पिछले वर्ष की इसी अवधि के 156283 टन की तुलना में 81 फीसदी कम रहा।

सहकारी विपणन संस्था नेफ्डे की ओर से मिले आंकडों के मुताबिक खुदरा बाजार में प्याज की कीमतें 80 रुपए प्रति किलो तक पहुंच जाने के बाद सरकार ने 14 अगस्त को इसके निर्यात को सीमित करने के इरादे से इसका न्यूनतम निर्यात मूल्य 650 डॉलर प्रति टन निर्धारित कर दिया। कीमत के लिहाज से भी अगस्त महीने में प्याज का निर्यात बीते वर्ष की समान अवधि के 164.92 करोड रुपए की तुलना में घटकर 125.46 करोड रुपए रहा।

चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-अगस्त की अवधि में भी प्याज का निर्यात घटकर 697028 टन रह गया जबकि पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह 850634 टन रहा था। कारोबारियों के मुताबिक आने वाले सप्ताह में प्याज का निर्यात बाजार में इसकी आपूर्ति पर निर्भर करेगा। आशंका है कि आपूर्ति कम ही रहेगी क्योंकि जुलाई-अक्तूबर में अक्सर प्याज की आवक बाजार में सख्त रहती है। प्याज की 60 प्रतिशत पैदावार रबी सीजन के दौरान मार्च-जून में होती है।

बाकी 40 प्रतिशत फसल खरीफ सीजन के आखिरी चरण जनवरी-मार्च के दौरान तैयार होती है। भारत दुनिया में चीन के बाद प्याज का दूसरा बडा उत्पादक देश है। पिछले वर्ष देश में कुल 166 लाख टन प्याज का उत्पादन हुआ। हालांकि मौसम अनुकूल नहीं रहने के कारण यह खपत के लिहाज से काफी कम रहा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You