दूध उत्पादन के बढऩे की उम्मीद

  • दूध उत्पादन के बढऩे की उम्मीद
You Are HereBusiness
Wednesday, September 11, 2013-2:12 PM

गांधीनगर: देश का दूध उत्पादन वर्ष के अंत तक 13.2 करोड़ टन से अधिक होने की उम्मीद है। डेयरी क्षेत्र के विशेषज्ञों ने यह जानकारी दी। राष्ट्रीय डेयरी शोध संस्थान के निदेशक ए.के. श्रीवास्तव ने यहां कहा, ‘भारत का दूध उत्पादन वर्ष 1950-51 के 1.7 करोड़ टन से बढ़कर अब करीब 12.9 करोड़ टन हो गया है। हमें इस वर्ष के अंत तक यह उत्पादन 13.2 करोड़ टन हो जाने की उम्मीद है।’

ए के श्रीवास्तव वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल एग्रीकल्चर समिट 2013 के तहत आयोजित कृषि, मवेशी और डेयरी पर आयोजित एक सेमिनार में यह बोल रहे थे। उन्होंने कहा, ‘वर्ष 2010-11 तक दूध उत्पादन में वृद्धि करीब 4.5 से 5 प्रतिशत की रही है और अगर हम इसी गति से बढ़ते रहे तो वर्ष 2020 तक भारत की 19.1 करोड़ टन की दूध जररतों को हम पूरा करने की स्थिति में होंगे।’

गुजरात सहकारिता दुग्ध विपणन महासंघ (जीसीएमएमएफ) के प्रबंध निदेशक आर एस सोढ़ी ने आयोजन में कहा कि हम देश में दूध उत्पादन के स्वर्णित दौर से गुजर रहे हैं जहां इसकी मांग काफी बढ़ रही है। सोढी ने कहा कि अगर दुनिया में दूध उत्पादों की खपत दो प्रतिशत की दर से बढ़ रही है तो भारत में यह करीब 12 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You