गरीबी सबसे बड़ी वैश्विक चुनौती: खुर्शीद

  • गरीबी सबसे बड़ी वैश्विक चुनौती: खुर्शीद
You Are HereBusiness
Thursday, September 26, 2013-6:01 AM

संयुक्त राष्ट्र: भारत ने कहा है कि वर्ष 2015 के बाद का विकास एजैंडा भूख और गरीबी उन्मूलन पर केंद्रित होना चाहिए तथा इसके अलावा इसमें खाद्य सुरक्षा और आधुनिक ऊर्जा सेवाओं की सार्वभौमिक पहुंच को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। 

विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कल यहां संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर आयोजित उच्च स्तरीय राजनीतिक मंच की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘वर्ष 2015 के बाद के विकास एजैंडे में सहस्त्राब्दि विकास लक्ष्यों के अधूरे कार्यों को आगे बढ़ाना चाहिए।’’

विकास एजैंडे को तैयार करते हुए हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह रियो नीतियों पर आधारित हो, साथ ही उसमें सांझा लेकिन विवेधात्मक जिम्मेदारियां भी शामिल होनी चाहिएं जिसकी रियो प्लस 20 (सतत् विकास पर संयुक्त राष्ट्र का सम्मेलन) में पुन: पुष्टि की जा चुकी है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You