रुपए की कमजोरी से राजकोषीय घाटा बढने की आशंका

  • रुपए की कमजोरी से राजकोषीय घाटा बढने की आशंका
You Are HereBusiness
Sunday, September 29, 2013-4:55 PM

नई दिल्ली: रुपए में बनी कमजोर से आगे राजकोषीय घाटा पांच प्रतिशत के स्तर पर पहुंचने की आंशका है। बाजार अध्ययन करने वाली संस्था ‘इंडिया रेटिंग एंड रिचर्स’ ने अपनी अध्ययन रिपोर्ट में कहा है कि रुपए में हाल में आई गिरावट से तेल पर दी जाने वाली सब्सिडी में चालू वित्त वर्ष 0.1 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है जिससे यह जीडीपी के 0.4 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मई के बाद से रुपया लगातार उतार-चढाव से गुजरते हुए फिलहाल 62-63 रुपए प्रतिशत डॉलर के आसपास मंडरा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक डीजल की कीमत में प्रति माह 50 पैसे प्रति लीटर की बढोत्तरी की व्यवस्था के बावजूद पेट्रोलियम उत्पाद पर जारी सब्सिडी राजकोष पर भारी बोझ बनाए हुए है जिससे राजकोषीय घाटा आगे कम होने की बजाए और बढेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You