यूएई में पढाई कर रहे भारतीय छात्रों पर रुपए में कमजोरी की मार

  • यूएई में पढाई कर रहे भारतीय छात्रों पर रुपए में कमजोरी की मार
You Are HereBusiness
Monday, September 30, 2013-4:14 PM

दुबई: रुपए में गिरावट का असर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विश्वविद्यालयों में अध्ययन कर रहे भारतीय विद्यार्थियों पर पड़ रहा है और अनेक संस्थानों को अपनी ट्यूशन फीस में 25 प्रतिशत तक कटौती को मजबूर होना पड़ा है। उल्लेखनीय है कि यूएई की मुद्रा दिरहम की तुलना में रुपया पिछले महीने सबसे निचले स्तर 18.75 के अब तक के सबसे निचले स्तर पर आ गया।

यहां नये अकादमिक सत्र भी पिछले महीने शुरू हुआ था। सूत्रों के अनुसार देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में स्नातक तथा स्नातकोत्तर की पढाई कर रहे विद्यार्थियों की पढाई का खर्च 30-40 प्रतिशत बढ गया है। एमिटी यूनिवर्सिटी, दुबई के सह उपाध्यक्ष मरियम शेख ने कहा, ‘हम समझते हैं कि भारत से किसी का यहां आना तथा अध्यययन करना कितना महंगा हो गया है। इसलिए हम सभी विद्यार्थियों को पहले साल के लिए ट्यूशन फीस पर 25 प्रतिशत की स्कालरशिप की पेशकश कर रहे हैं।’

उमिटी के दुबई परिसर में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की पढाई की फीस सालाना 30,000 दिरहम से 50,000 दिरहम के बीच है। बिट्स पिलानी, दुबई में मशीनी अभियांत्रिकी की चौथे साल की पढाई कर रहे हैप्पी दुबे ने कहा, ‘जब मैं जुलाई 2010 में पहली बार दुबई में आया तो मुझे या है कि रुपया दिरहम की तुलना में 12.5 से 13 रुपए के बीच था। इसलिए पहले कुछ सालों में मेरा कुल खर्च 65000 दिरहम के आसपास रहा और कभी 850000 रुपए सालाना नहीं हुआ।’ उन्होंने कहा कि इससे यहां पढाई का पूरा खर्च अब 37 प्रतिशत या 300000 रुपए से अधिक बढ कर 11 लाख रुपए तक पहुंच जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You