अर्थव्यवस्था की चुनौतियों से निपटने में सक्षम है सरकार: चिदंबरम

  • अर्थव्यवस्था की चुनौतियों से निपटने में सक्षम है सरकार: चिदंबरम
You Are HereBusiness
Saturday, October 05, 2013-2:48 PM

बेंगलूर: केन्द्रीय वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने आज कहा कि घरेलू बचत हमारे पास एक ऐसा हथियार है जिसके बल पर सरकार अर्थव्यवस्था के समक्ष आने वाली किसी भी चुनौती से निपटने में सक्षम हो सकती है। चिदंबरम ने स्टेट बैंक आफ मैसूर के एक समारोह में कहा कि हमारे लोग बचत करते हैं और यह देश के लिए सबसे बडी परिसंपत्ति है।

उन्होंने कहा कि विश्व में ऐसा कोई देश नहीं है जहां भारत की तरह लोग बचत करते हैं। कितनी भी खराब स्थिति क्यों न रही हो हमारी बचत का औसत 30 प्रतिशत से नीचे नहीं गया। उन्होंने कहा कि पिछले साल विश्लेषक हों या रेटिंग एजेंसी अथवा टेलीविजन पर अर्थव्यवस्था पर चर्चा करने वाले विद्वान सभी का यह कहना था कि सरकार वित्तीय घाटा काबू में नहीं रख पायेगी, लेकिन हमने इसे कर दिखाया। उन्होंने कहा कि चालू खाता घाटा (कैड) जिसे लेकर खासी चिंता व्यक्त की जा रही है।

चालू वित्त वर्ष में हम इसे सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के तय लक्ष्य से नीचे रख पाने में सफल होंगे। कैड 2013-14 के लिए 70 अरब डॉलर के तय लक्ष्य से कम ही रहेगा। वर्ष 2012-13 में कैड 88 अरब डॉलर रहा था। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह जीडीपी का 4.9 प्रतिशत रहा है। वित्त मंत्री ने कहा कि हम एक बार फिर विश्लेषकों, साख निर्धारिण एजेंसियों और अर्थव्यवस्था पंडितों को चौकायेंगे।

सरकार कैड को 70 अरब डॉलर से नीचे रखने में सफल होगी। उन्होंने कहा कि हमारे वरिष्ठ अर्थशास्त्रियों और प्रशासकों को इतनी क्षमता है और उनमें जो विश्वास झलकता है उससे पूरी उम्मीद है कि कैड हमारे लक्ष्य की सीमा के भीतर ही रहेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You