‘सरकारी बैंकों का काम देख कर अतिरिक्त पूंजी देने पर होगा विचार’

  • ‘सरकारी बैंकों का काम देख कर अतिरिक्त पूंजी देने पर होगा विचार’
You Are HereBusiness
Sunday, October 06, 2013-10:04 AM

बेंगलूर: वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि सरकारी बैंकों को अतिरिक्त पूंजी देने का फैसला यह देख कर किया जाएगा कि वे चुनिंदा क्षेत्रों को कम दर पर कितना रिण दे सकते हैं। चिदंबरम बैंक आफ मैसूर के समारोह में आए थे।

वित्त मंत्री ने सरकारी क्षेत्र के बैंकों को चालू वित्त वर्ष में तय राशि के अतिरिक्त पूंजी देने के बारे में एक सवाल पर कहा, ‘उसे हम देखेंगे। यह निर्भर करेगा कि वे चुनिंदा क्षेत्रों को कम ब्याज दर पर कितना ऋण सुलभ करा सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि बैंकों को कुछ चुनिंदा क्षेत्र के लिए कम दर पर कर्ज देने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा ताकि मांग बढ सके।’

उन्होंने कहा, ‘पहले हर बैंक को यह बताने दीजिए कि वह क्या कर सकता है। हमें एक बार उसकी जानकारी मिल गयी तो मांग को जोड़ यह हिसाब लगा सकेंगे कि कितनी अतिरिक्त पूंजी जरूरी है। और उसी के अनुसार अतिरिक्त पूंजी उपलब्ध कराई जाएगी।’ आधार कार्ड के फायदे और बारे में उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बारे में वित्त मंत्री ने उम्मीद जाताई कि इसके सभी पहलुओं को विचार कर न्यायालय एक उचित निर्णय देगा।

उन्होंने कहा ‘मेरी समझ में न्यायालय ने मामले को दाखिला देते हुए ही अंतरिम आदेश दे दिया, सरकार ने विस्तृत हलफनामा दायर कर दिया है।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You