भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत पतली: मूडीज

  • भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत पतली: मूडीज
You Are HereBusiness
Monday, October 07, 2013-4:16 AM

नई दिल्ली: निर्यात में गिरावट का हवाला देते हुए सरकार की ओर से चालू खाता घटने की उम्मीद बांधे जाने  को वैश्विक साख निर्धारण संस्था मूडीज ने देश की अर्थव्यवस्था में सुस्ती का संकेत बताया है। मूडीज ने कहा है कि मई और जून की अपेक्षा जुलाई में औद्योगिक उत्पादन के आंकडे (आईपीपी) बेहतर होने के बावजूद यह आर्थिक सुस्ती की ओर इशारा कर रहे हैं।

औद्योगिक उत्पादन के अगस्त महीने के आंकडे इस सप्ताह के आखिर में और निर्यात आंकडे अगले सप्ताह के शुरू में आने वाले हैं। मूडीज का मानना है कि अगस्त में औद्योगिक उत्पादन में महज एक प्रतिशत की बढत रहने की संभावना है जबकि जुलाई में यह आंकडा 2.6 प्रतिशत रहा था। मूडीज के मुताबिक जुलाई माह में आइपीपी के आंकडों में सुधार के बावजूद देश के विनिर्माण क्षेत्र का आधार डगमगा रहा है। घरेलू मांग में सुस्ती बनी हुयी है।

जटिल कर ढांचे और नियमों तथा कमजोर आधारभूत संरचना के कारण आपूर्ति पर दबाव है। ऐसी स्थिति में जबतक कारोबारी भरोसा बहाल नहीं हो जाता तबतक औद्योगिक उत्पादन सुस्ती से उबर नहीं पाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You