स्टेट बैंक का कार एवं उपभोक्ता वस्तु ऋण हुआ सस्ता

  • स्टेट बैंक का कार एवं उपभोक्ता वस्तु ऋण हुआ सस्ता
You Are HereBusiness
Wednesday, October 09, 2013-3:17 PM

नई दिल्ली: त्यौहारी सीजन में खुदरा मांग बढाने के उद्देश्य से किफायती दरों पर ऋण उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकारी बैंकों को सरकार द्वारा 14 हजार करोड रुपए की अतिरिक्त पूंजी देने की घोषणा के मद्देनजर देश के सबसे बडे बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने कार एवं टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं के ऋण पर ब्याज में कम करने की घोषणा की है।

सरकारी क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और ओरियंटल बैंक आफ कामर्स (ओबीसी) ने कार और टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं के ऋण पर ब्याज दरों में ढाई प्रतिशत तक की कमी करने के ऐलान के एक दिन बाद बुधवार को स्टेट बैंक ने यह निर्णय लिया है। बैंक के अनुसार कार रिण पर अब ब्याज दर 0.20 प्रतिशत कम होकर 10.55 प्रतिशत हो जायेगी। पहले यह 10.75 प्रतिशत थी। बैंक ने इसके साथ प्रोसेसिंग शुल्क को कुल ऋण राशि 0.51 प्रतिशत या न्यूनतम 1020 रुपए से कम कर 500 रुपए कर दिया है।

बैंक ने त्यौहारों के मद्द्नेजर वेतन खाताधारको के लिए टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं और दोपहिया वाहनो पर विशेष रिण देने का ऐलान भी किया है। इसके तहत विशेष आकर्षक पेशकश की गयी है और अब इस पर ब्याज दरें 12.05 प्रतिशत से शुरू होगी। यह आफर उत्सव की उमंग एसबीआई के संग सात अक्टूबर से 31 जनवरी 2014 तक जारी रहेगा। इसके तहत कार, दोपहिया और उपभोक्ता वस्तुओ के लिए ऋण मिलेगा।

इससे पहले पीएनबी ने कार ऋण पर ब्याज दर को एक प्रतिशत कम कर 10.65 प्रतिशत पर दिया है जो फ्क्सिड रहेगा। इसी तरह से दोपहिया वाहन ऋण पर ब्याज को कम कर 12.25 प्रतिशत और टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं के लिए व्यक्तिगत ऋण पर ब्याज को घटाकर 12.75 प्रतिशत कर दिया गया है। इन ब्याज दरों में एक प्रतिशत से ढाई प्रतिशत तक की कटौती की गयी है और ये दरे फ्क्सिड होंगी।

आबीसी ने कार पर ब्याज को 12.25 प्रतिशत से कम कर 12 प्रतिशत कर दिया है। इसके साथ ही व्यक्तिगत ऋण और उपभोक्ता ऋण पर ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत की कमी की गयी है और यह 12.50 प्रतिशत हो गयी है। ओबीसी की नये दरे कल से प्रभावी होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You