इंफोसिस को 2407 करोड़ का मुनाफा

  • इंफोसिस को 2407 करोड़ का मुनाफा
You Are HereBusiness
Friday, October 11, 2013-1:10 PM

बेंगलूर: सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इंफोसिस का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष में 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में 1.6 प्रतिशत बढ़कर 2,407 करोड़ रुपए रहा। बड़े सौदों तथा बिक्री बढऩे से कंपनी का लाभ बढ़ा है।

इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी तिमाही में बेंगलूर की कंपनी का शुद्ध लाभ 2,369 करोड़ रुपए था। इंफोसिस ने बंबई शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि कंपनी की एकीकृत आय 2013-14 की जुलाई-सितंबर तिमाही में 31.5 प्रतिशत बढ़कर 12,965 करोड़ रुपए रही जो इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 9,858 करोड़ रुपए थी। कंपनी के वित्तीय नतीजे का उसके शेयर पर अच्छा प्रभाव प्रभाव पड़ा और शुरूआती कारोबार में कल के बंद के मुकाबले 7 प्रतिशत की तेजी के साथ 3,360 रुपए प्रति शेयर पर पहुंच गया।

हालांकि बाद में यह 3,220 रुपए प्रति शेयर पर आ गया जो कल के मुकाबले 3.07 प्रतिशत अधिक है। देश की दूसरी सबसे बड़ी साफटवेयर निर्यातक कंपनी ने वित्त वर्ष 2013-14 में अमेरिकी डालर में अपनी आय अनुमान को संशोधित किया है और इसमें 9 से 10 प्रतिशत वृद्धि की संभावना जतायी है। जबकि पूर्व में इसके 6 से 10 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया था। रुपए में कंपनी ने मौजूदा वित्त वर्ष में अपनी आय में 21 से 22 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान जताया है जबकि पूर्व में इसके 13 से 17 प्रतिशत रहने की संभावना जतायी गयी थी।

डॉलर के संदर्भ में न्यूयार्क स्टाक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनी का शुद्ध लाभ 2013-14 की दूसरी तिमाही में 11.1 प्रतिशत घटकर 38.3 करोड़ डॉलर रहा। इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी तिमाही में यह 43.1 करोड़ डॉलर था। हालांकि आय जुलाई-सितंबर तिमाही में 15 प्रतिशत बढ़कर 2.07 अरब डॉलर रही जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2012-13 की इसी तिमाही में 1.80 अरब डॉलर थी। इससे पहले, कंपनी ने कहा था कि जून 2013 में कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि के कारण जुलाई-सितंबर तिमाही में कंपनी के मार्जिन पर करीब 3 प्रतिशत प्रभाव पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि पिछली तिमाहियों में इंफोसिस के खराब प्रदर्शन को देखते हुए इसके संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति जून में फिर कंपनी से जुड़ गये। इंफोसिस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी तथा प्रबंध निदेशक एस डी शिबूलाल ने कहा कि आलोच्य तिमाही के दौरान बिग डेटा तथा क्लाउड के क्षेत्र में बिक्री में अच्छी वृद्धि हुई तथा नये ग्राहक जुड़े। साथ ही कंपनी ने पांच बड़े सौदे हासिल किये जिसका असर कंपनी के वित्तीय नतीजे पर पड़ा।


चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में इंफोसिस का शुद्ध लाभ 2,374 करोड़ रुपए तथा आय 11,267 करोड़ रुपए रही। शिबूलाल ने कहा, ‘‘हमने पूर्व में जो निवेश की योजना बनायी है, उस पर कायम रहेंगे और विकास की नई संभावनाओं को तलाशते रहेंगे। हमारी वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार पर नजर है और हम इसको लेकर सतर्क हैं।’’

जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान इंफोसिस तथा उसकी अनुषंगी इकाइयों ने 68 नये ग्राहक जोड़े। इससे कंपनी के ग्राहकों की संख्या 873 हो गयी है। इंफोसिस के मुख्य वित्त अधिकारी राजीव बंसल ने कहा, ‘‘वैश्विक मुद्रा बाजार में अभी भी उतार-चढ़ाव जारी है। आलोच्य तिमाही के दौरान रुपए की विनिमय दर में 11 प्रतिशत की कमी आयी है। हम इससे अपने मार्जिन पर पडऩे वाले प्रभाव को कम करने के लिये कदम उठा रहे हैं।’’

 कंपनी ने जुलाई-सितंबर तिमाही में सकल रूप से 12,168 कर्मचारी जोड़े। हालांकि शुद्ध रूप से यह संख्या 2,964 रही। इसे मिलाकर कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 30 सितंबर 2013 को 160,227 हो गयी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You