2G स्पैक्ट्रम पर जे.पी.सी. की रिपोर्ट को BJP ने किया खारिज

  • 2G स्पैक्ट्रम पर जे.पी.सी. की रिपोर्ट को BJP ने किया खारिज
You Are HereNational
Friday, October 11, 2013-12:07 PM

नई दिल्ली: भाजपा ने कल एक अभूतपूर्व कदम में 2-जी स्पैक्ट्रम पर संयुक्त संसदीय समिति (जे.पी.सी.) की रिपोर्ट संसद में पेश होने से पहले ही उसे धोखा बताकर सार्वजनिक रूप से इसे खारिज करने की घोषणा की और आरोप लगाया कि इसमें एक बड़े घोटाले में कांग्रेस नीत सरकार तथा प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री की भूमिका को छिपाया गया है। समिति के अध्यक्ष पी.सी. चाको के नाम सौंपे गए इस सामूहिक पत्र की एक प्रति लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को भी दी गई है।

 

चाको की अध्यक्षता वाली इस जे.पी.सी. में मौजूद भाजपा के सभी 6 सदस्यों ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा करते हुए आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री को क्लीन चिट देने वाली इस रिपोर्ट के खिलाफ समिति के पार्टी सदस्यों ने ‘असहमति नोट’ दाखिल कर दिया है।  सिन्हा ने आरोप लगाया कि यह रिपोर्ट जे.पी.सी. सचिवालय ने नहीं बल्कि प्रधानमंत्री कार्यालय, वित्त मंत्रालय और दूरसंचार मंत्रालय ने मनमोहन सिंह और चिदम्बरम को बचाने के लिए तैयार की है।

 

सवालों के जवाब में उन्होंने और जसवंत सिंह ने स्वीकार किया कि जे.पी.सी. की रिपोर्ट संसद में पेश होने से पहले भाजपा सदस्यों ने उसकी बात सार्वजनिक करके संसदीय परंपरा का उल्लंघन किया है। इस पर खेद प्रकट करने के साथ ही उन्होंने तर्क दिया कि 2-जी घोटाले में प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री की भूमिकाओं पर पर्दा डालने के लिए समिति के अध्यक्ष चाको ने सभी नियमों और परंपराओं की धज्जियां उड़ा दीं जिसके चलते उन्हें मजबूरन ऐसा करना पड़ा।

 

जे.पी.सी. के भाजपा सदस्यों ने अपने 35 पृष्ठीय ‘असहमति नोट’ में कैग के इस आकलन को सही माना कि 2-जी घोटाले से देश के खजाने को 1.76 लाख करोड़ रुपए का नुक्सान हुआ। भाजपा ने 2-जी स्पैक्ट्रम आबंटन मामले की जांच के लिए गठित (जे.पी.सी.) की रिपोर्ट को झूठ का पुलिंदा करार देते हुए कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को इसे भी फाड़ देना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You