यामाहा के चेन्नई संयंत्र में होगा एक साल का विलंब

  • यामाहा के चेन्नई संयंत्र में होगा एक साल का विलंब
You Are HereBusiness
Sunday, October 13, 2013-3:58 PM

नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था में सुस्ती से जापान की दोपहिया कंपनी यामाहा अपने 1,500 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले चेन्नई कारखाने में एक साल का विलंब करेगी। हालांकि, कंपनी स्कूटर के स्थानीय स्तर पर विकास तथा कम्यूटर बाइक योजना पर आगे बढ़ेगी। कंपनी का इरादा इन वाहनों को 2016 तक उतारने का है।

कंपनी ने पहले अपने चेन्नई के नये कारखाने में उत्पादन अगले साल की शुरुआत में शुरू करने की योजना बनाई थी। अब कंपनी यह कारखाना 2014 के अंत या 2015 की शुरुआत में शुरू करेगी। इंडिया यामाहा मोटर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक हिरोयूकी सुजुकी ने कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है। ऐसे में हमने चेन्नई संयंत्र का परिचालन शुरू करने की योजना एक साल टालने का फैसला किया है। हमें भारतीय बाजार की परिस्थितियों के अनुरूप अपने कार्यक्रम में बदलाव करना होगा।’’

उन्होंने कहा कि कंपनी ने इस कारखाने पर हाल में काम शुरू किया है। इस संयंत्र की उत्पादन क्षमता 2018 तक 18 लाख इकाई सालाना की होगी। सुजुकी ने बताया कि 2015 में कारखाने में उत्पादन शुरू होने के बाद इसकी शुरुआती क्षमता 4.5 लाख इकाई सालाना की होगी। सुजूकी ने कहा कि चेन्नई कारखाने में बाइक व स्कूटर दोनों का उत्पादन किया जाएगा। भारत में अपने उत्पाद विकास कार्यक्रम के बारे में सुजुकी ने कहा कि यामाहा मोटर आरएंडडी इंडिया भारतीय बाजार के लिए स्कूटर तथा रोजाना इस्तेमाल की बाइक पर काम कर रही है।

इन उत्पादों का निर्यात अफ्रीका और लातिनी अमेरिका जैसे भारत की तरह के बाजारों को भी किया जाएगा। सुजुकी ने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि ये दोनों उत्पाद 2016 तक उतार दिए जाएंगे। इनका उत्पादन चेन्नई कारखाने में किया जाएगा।’’ उन्होंने बताया कि कंपनी का इरादा 37,000 रुपए से कम कीमत की बाइक पेश करने का है। यह बाजार में प्रवेश स्तर की किसी बाइक में सबसे कम कीमत होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You