बैंको के रिण उठाव और जमा में अनुमान से कम वृद्धि

  • बैंको के रिण उठाव और जमा में अनुमान से कम वृद्धि
You Are HereBusiness
Wednesday, October 16, 2013-5:34 PM

नई दिल्ली: ऊंची ब्याज दर और आर्थिक सुस्ती से मांग कमजोर होने से चालू वित्त वर्ष में बैंकों के रिण उठाव में मात्र 11 प्रतिशत की और जमा में 12 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज की गई है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी आंकडो के अनुसार 22 मार्च से लेकर चार अक्टूबर 2013 तक बैंको के रिण उठाव में पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 11 प्रतिशत की बढोतरी हुई है और इसी तरह से जमा में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष में रिण उठाव में 15 प्रतिशत और जमा में 14 प्रतिशत की बढोतरी होने का अनुमान लगाया है। विश्लेषकों का कहना है कि ऊंची ब्याज दर के कारण कार, आवास, व्यक्तिगत रिण के साथ ही कारोबारी भी रिण लेने से पीछे हट रहे हैं। कारोबारियों ने इस कारण निवेश योजना को भी आगे बढा दिया है। उनका कहना है कि जब तब रिण सस्ता नहीं होगा तब तक इसमें तेजी से बढोतरी की उम्मीद नहीं की जा सकती है।

हालांकि त्यौहारी सीजन के मद्देनजर सरकार की पहल पर बैंकों द्वारा की गई आकर्षक पेशकश से उपभोक्ता वस्तुओं और दोपहिया वाहनो के साथ ही कार रिण में कुछ बढोतरी होने से आगे रिण उठाव में वृद्धि दर्ज की जा सकती है। लेकिन अर्थव्यवस्था में सुस्ती और महंगाई के कारण लोगों की बचत प्रभावित हो रही है जिससे जमा में अनुमान के अनुरूप बढोतरी की उम्मीद नहीं की जा सकती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You