देश के शहरों और कस्बों में बेरोजगारी दर घटी

  • देश के शहरों और कस्बों में बेरोजगारी दर घटी
You Are HereBusiness
Sunday, October 27, 2013-11:20 AM

नई दिल्ली: एक सरकारी अध्ययन के अनुसार 2009-10 में समाप्त पांच वर्ष की अवधि के दौरान आगरा, लुधियाना और मेरठ में बेरोजगारी दर तेजी से बढ़ी है हालांकि, देश के कस्बों और शहरों में कुल मिलाकर इसमें कमी आई है। भारत के कस्बों और शहरों में रोजगार और बेरोजगारी की स्थिति पर राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन (एनएसएसओ) ने खुलासा किया है कि आगरा में बेरोजगारी दर वर्ष 2004-05 के 0.2 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2009-10 में 5.5 प्रतिशत पर पहुंच गई।

लुधियाना में बेरोजगारी दर वर्ष 2004-05 के 1.2 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2009-10 में 6.3 प्रतिशत पर पहुंच गई जबकि मेरठ में यह 2.1 प्रतिशत से बढ़कर 3.9 प्रतिशत हो गई। अधिकतम बेरोजगारी का औसत पटना और कानपुर में देखने को मिला जहां यह दर वर्ष 2009-10 में क्रमश:13.2 प्रतिशत और 7.7 प्रतिशत रही। वर्ष 2009-10 में बेरोजगारी की सर्वाधिक कम दर भोपाल में 0.1 प्रतिशत की दर्ज की गई जिसके बाद सूरत में सर्वाधिक कम दर 0.6 प्रतिशत और इंदौर में 0.8 प्रतिशत दर्ज की गई।

नगरों और शहरों में रोजगार की स्थिति में सुधार को प्रदर्शित करते हुए सर्वे में खुलासा किया गया है कि पांच वर्ष की अवधि के दौरान देश के शहरों और कस्बों में कुल मिलाकर बेरोजगारी दर 3.8 प्रतिशत से घटकर 2.8 प्रतिशत रह गई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You