धनतेरस पर 33,000 के स्तर के पार जा सकता है सोना!

  • धनतेरस पर 33,000 के स्तर के पार जा सकता है सोना!
You Are HereBusiness
Monday, October 28, 2013-2:33 PM

नई दिल्ली: विशेषज्ञों और सर्राफा कारोबारियों के अनुसार त्योहारी सत्र में बढ़ी मांग और अपेक्षाकृत कम आपूर्ति के कारण सोने का दाम इस साल धनतेरस के दिन तीन प्रतिशत बढ़कर 33,000 रुपए प्रति दस ग्राम तक पहुंच सकता है।

कारोबारियों का कहना है कि कीमत में वृद्धि के बावजूद एक नवंबर को धनतेरस के दिन मांग पूर्वस्तर पर बने रहने की संभावना है लेकिन सिक्के तथा सोने की छड़ की बिक्री में एक साल पहले की तुलना में 50 फीसदी की कमी आ सकती है। दुनिया में सोने के सबसे बड़ा उभोक्ता तथा आयातक भारत में इस मूल्यवान धातु को खरीदने के लिये धनतेरस को शुभ माना जाता है। व्यापार आंकड़ों के अनुसार फिलहाल सोने का दाम राष्ट्रीय राजधानी में 32,570 रुपए प्रति 10 ग्राम तथा मुंबई में 31,700 रुपए प्रति 10 ग्राम है।

गत 28 अगस्त को दिल्ली में सोना अपना सर्वकालिक उच्च स्तर 34,500 रुपए पर पहुंच गया था। शहर की ब्रोकरेज कंपनी एसएमसी कामट्रेड के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक डी के अग्रवाल ने कहा, ‘‘फिलहाल सोने का दाम मंदा है लेकिन सोने की आपूर्ति पर दबाव और ऊंचा प्रीमियम होने की वजह से कीमत में कुछ तेजी का अनुमान है और धनतेरस के दिन यह 300 से 1000 रुपए प्रति 10 ग्राम बढ़ सकता है।’’ उन्होंने कहा कि यदि त्योहार के दिन मांग और आपूर्ति के बीच फासला बढ़ता है तो सोने पर प्रीमियम 1,500 से 2,000 रुपए के मौजूदा स्तर से भी आगे बढ़ सकता है।

हालांकि, पिछले वर्ष के मुकाबले इस साल धनतेरस के दिन सोने के घरेलू दाम में कम अंतर रहेगा क्योंकि वैश्विक स्तर पर परिस्थितियां कमजोर बनी हुई हैं। व्यापारिक आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2012 में धनतेरस के दिन सोने के दाम 20 प्रतिशत बढ़कर 32,485 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गये। जबकि इससे एक साल पहले 2011 में सोना 37 प्रतिशत उछलकर 27,130 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया था। वर्ष 2010 में धनतेरस के दिन सोने का दाम 19,740 रुपए रहा था।

आपूर्ति कम होने की वजह से घरेलू बाजार में सोने की बिक्री ऊंचे प्रीमियम पर हो रही है। सरकार द्वारा आयात पर शुल्क बढ़ाने और कई तरह के प्रतिबंध लगाने की वजह से सोने की आपूर्ति पर दबाव बढ़ा है। अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण व्यापार महासंघ के चेयरमैन हरीश सोनी के अनुसार ‘‘सोने पर ऊंची प्रीमियम का असर धनतेरस के दिन सोने के दाम पर दिखाई देगा। सरकारी प्रतिबंधों के चलते पिछले तीन महीनों के दौरान सोने का आयात लगभग बंद हो चुकी है।’’

आगामी त्योहारों और ब्याह शादी की मांग को पूरा करने के लिये आभूषण निर्माता पुराने सोने पर निर्भर है। उन्हें ग्राहकों को लुभाने के लिये आकर्षक योजनाओं की भी तैयारी की है। सोनी ने कहा कि आभूषणों की मांग स्थिर रह सकती है लेकिन सिक्कों और सर्राफा की बिक्री पिछले साल के मुकाबले 50 प्रतिशत तक घट सकती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You