भारत में एफडीआई के लिए वालमार्ट ने अमेरिकी सांसदों के बीच लॉबिंग फिर शुरू की

  • भारत में एफडीआई के लिए वालमार्ट ने अमेरिकी सांसदों के बीच लॉबिंग फिर शुरू की
You Are HereBusiness
Sunday, October 27, 2013-4:52 PM

नई दिल्ली: खुदरा क्षेत्र की वैश्विक कंपनी वालमार्ट ने भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) से संबंधित मुद्दों पर अमेरिकी सांसदों के बीच लॉबिंग गतिविधियां फिर से शुरू कर दी है। बीती तिमाही के दौरान कंपनी ने भारतीय बाजार सहित करीब 50 मुद्दों पर लाबिंक के लिए 15 लाख डॉलर खर्च किए हैं।

अमेरिकी सीनेट के समक्ष सांसदों के बीच कंपनी की ओर से लाबिंग के बारे में प्रस्तुत ताजा रपट के अनुसार, ‘‘वालमार्ट की ओर से पंजीकृत लॉबिस्ट ने 2013 की तीसरी तिमाही के दौरान भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मुद्दे सहित व्यापार के क्षेत्र के 10 मुद्दों पर लाबिंग की।’’ कुल मिलाकर वालमार्ट के लॉबिस्ट ने कुल मिलाकर 50 मुद्दों पर अमेरिकी सांसदों के साथ विचार विमर्श किया। 19 पृष्ठ की खुलासा रपट के अनुसार समीक्षाधीन अवधि में लॉबिंग गतिविधियों पर कुल मिलाकर 15 लाख डॉलर की राशि खर्च की गई।

वालमार्ट की ओर से लॉबिंग के तहत सीनेट, प्रतिनिधि सभा, विदेश विभाग, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा, अंतर्राष्ट्रीय विकास पर अमेरिकी एजेंसी तथा श्रम विभाग के सदस्यों या प्रतिनिधियों के साथ सम्पर्क किया गया। अमेरिकी कांग्रेस के रिकार्ड के अनुसार वालमार्ट ने इससे पिछली तिमाही में अमेरिकी सांसदों तथा संघीय एजेंसियों के बीच भारत संबंधित मुद्दों पर लॉबिंग गतिविधियां रोक दी थीं। उससे पिछले पांच साल तक कंपनी भारत के खुदरा बाजार में प्रवेश के लिए लॉबिंग करती रही थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You