बासमती का अच्छा भाव मिलने से किसान खुश

  • बासमती का अच्छा भाव मिलने से किसान खुश
You Are HereBusiness
Saturday, November 09, 2013-9:52 AM

हिसार: हरियाणा में बासमती धान की बंपर पैदावार के साथ उसका भाव भी अच्छा मिलने से किसान अच्छी आय की उम्मीद लगा रहे हैं। अरब देशों में बासमती चावल की मांग बढने से राज्य हरियाणा की मंडियों तथा खरीद केद्रों पर बासमती धान के दाम बढने के साथ ही मांग भी बढ़ गई है।

फतेहाबाद, रतिया, जाखल, टोहाना, सिरसा की मंडी में बासमती धान खरीदने के लिए व्यापारियों की होड़ लगी हुई है। धान के दाम 42 सौ रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं। अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में दाम पांच हजार तक पहुंच सकते हैं। बासमती धान की ज्यादातर पैदावार भारत में होती है जबकि पहले पाकिस्तान से भी चावल जाता था इस बार भारत का चावल पसंद किया जा रहा है।

बासमती विदेशों में काफी पसंद किया जाता है। यह निजी एजेंसियों की ओर से खरीदकर विदेशो में निर्यात किया जाता है। पिछले कुछ दिनों तक बासमती धान 32 सौ रुपए प्रति क्विंटल तक बिक रहा था अचानक इसके दाम 42 सौ रुपए तक पहुंच गए। बासमती धान के दाम बढने की संभावना के चलते अधिकांश किसानों ने अपने घरों में धान का स्टॉक कर लिया जिससे मंडी में अनुमान से कम धान पहुंचा है।

मांग बढने के साथ इसके भाव में उछाल आ गया। विदेशों में मांग पूरी नहीं हो रही तथा विदेश में इसकी लागत कम है। बासमती निजी एजेंसियो ने खरीदा है। शैलर में चावल निकालकर बाद में इसे विदेशों में निर्यात करते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You