यूबीएस ने घटाई भारत की ऋण साख

  • यूबीएस ने घटाई भारत की ऋण साख
You Are HereBusiness
Monday, November 18, 2013-4:03 PM

नई दिल्ली: वैश्विक निवेशक बैंक (यूबीएस) ने भारत के कमजोर आर्थिक परिदृश्य का हवाला देते हुए देश की ऋण साख को ओवरवेट की श्रेणी से घटाकर न्यूट्रल कर दिया है जबकि दूसरी ओर चीन की ऋण साख को न्यूट्रल से बढ़ाकर एक पायदान ऊपर ओवरवेट की श्रेणी में डाल दिया है। यूबीएस ने चीन में आयोजित एक आर्थिक सम्मेलन के समापन मौके पर जारी रिपोर्ट में कहा कि हालांकि लंबी अवधि के निवेश पर बेहतर मुनाफा कमाई के मौके भारत में अभी भी मौजूद हैं लेकिन देश में मौजूदा आर्थिक हालात सही नहीं हैं। जबकि एशियाई अर्थव्यवस्थाओं में यदि जापान को छोड़ कर देखें तो चीन सबसे तेजी से आगे बढ रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की स्थिति ने जहां निवेशकों को निराश किया है वहीं दूसरी ओर चीन की प्रगति से लोग अचंभित हुए हैं। रिपोर्ट के अनुसार चीन में आर्थिक सुधारों की प्रगति हैरान करने वाली है जबकि भारत में इस मोर्चे पर नीतिगत शिथिलता का दौर अभी भी कायम है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You