अगले 6 महीने में पूरी तरह नियंत्रण मुक्त हो जाएगी डीजल कीमत: मोइली

  • अगले 6 महीने में पूरी तरह नियंत्रण मुक्त हो जाएगी डीजल कीमत: मोइली
You Are HereBusiness
Wednesday, November 20, 2013-3:08 PM

नई दिल्ली: पेट्रोलियम मंत्री वीरप्पा मोइली ने कहा है कि अगले छह महीने में डीजल की कीमतें पूरी तरह नियंत्रण मुक्त हो जाने की संभावना है। उन्होंने कहा कि  सरकारी तेल विपणन  कंपनियों को डीजल बिक्री पर अभी भी 9 रपए 58 पैसे प्रति लीटर का धाटा हो रहा है जबकि मिट्टी के तेल और रसोई गैस पर क्रमश 35 रपए 77 पैसे प्रति लीटर और 482.41 रपए प्रति सिलेंड का घाटा उठान पड रहा है। उन्होंने कहा कि डीजल बिक्री पर होने वाले घाटे को खत्म करने के लिए इसकी कीमतों को नियंत्रण मुक्त करना जररी हो गया है।

सरकार पहले ही डीजल को आंशिक रप से नियंत्रण मुक्त कर चुकी है। इस व्यवस्था के तहत  बीपीसीएल. एचपीसीएल और इंडियन आयल जैसी सरकारी तेल कंपनियों को हर महीने डीजल की कीमत में 50 पैसे प्रति लीटर का इजाफा करने की छूट मिली हुयी है। मोइली के अनुसार कच्चे तेल के आयात पर हर साल 16000 करोड डालर का खर्च आ रहा है ।

उन्होंने कहा कि सरकार को अंतर्राष्ट्रीय कमतों की तुलना में घरेलू स्तर पर पेट्रोल और डीजल सस्ता बेचना पडता है जिसके कारण उस पर सब्सिडी का बोझ लगातार बढता जा रहा है। इस बोझ को कम करने के लिए सरकार पेट्रोल की कीमत को पूरी तरह से नियंत्रण मुक्त कर चुकी है और अब डीजल को भी नियंत्रण मुक्त करने की योजना है।

अंडर रिकवी का हवाला देते हुए तेल कंपनियां सरकार से लगातार डीजल की कीमतों को पूरी तरह से नियंत्रण मुक्त करने की मांग करती रही हैं।  डीजल की कीमत को नियंत्रण मुक्त करने की मंजूरी कैबिनेट दो साल पहले ही दे चुकी है लेकिन सरकार अभी तक इसे लागू नहीं कर पाई है और आगे आम चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाइ इसे लागू करना और भी मुश्किल हो सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You