...तो 10 रुपए प्रति लीटर महंगा हो जाएगा डीजल!

  • ...तो 10 रुपए प्रति लीटर महंगा हो जाएगा डीजल!
You Are HereBusiness
Thursday, November 21, 2013-12:04 PM

नई दिल्ली: पेट्रोलियम मंत्रालय एम वीरप्पा मोइली ने कहा है कि अगले छह महीने में डीजल की कीमतें पूरी तरह नियंत्रण मुक्त हो जाएंगी। इसका अर्थ यह है कि इससे सब्सिडी पूरी तरह खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकारी तेल विपणन  कंपनियों को डीजल बिक्री पर अभी भी 9 रुपए 58 पैसे प्रति लीटर का घाटा हो रहा है जबकि मिट्टी के तेल और रसोई गैस पर क्रमश: 35 रुपए 77 पैसे प्रति लीटर और 482.41 रुपए प्रति सिलेंड का घाटा उठाना पड रहा है।

उन्होंने कहा कि डीजल बिक्री पर होने वाले घाटे को खत्म करने के लिए इसकी कीमतों को नियंत्रण मुक्त करना जरुरी हो गया है। हालांकि सरकार ने इस मामले पर पूरी तरह चुप्पी साध ली है कि इलेक्शन इयर में बिना प्राइस हाइक के ऐसा कैसे कर पाएगी।

डीजल, रसोई गैस सिलेंडर तथा केरोसिन की लागत से कम मूल्य पर बिक्री से तेल कंपनियों को हो रहे भारी नुकसान के मद्देनजर सरकार मूल्यवृद्धि का रास्ता तलाश रही है। दिल्ली में डीजल का दाम अभी 47.15 रुपए लीटर है। 14 सितंबर को डीजल के दाम 5.63 रुपए प्रति लीटर बढाए गए थे। वहीं दूसरी ओर मिट्टी के तेल की कीमतों में पिछले साल जून से बदलाव नहीं हुआ है। फिलहाल, दिल्ली में राशन में मिट्टी तेल 14.79 रुपए प्रति लीटर पर उपलब्ध है।

उन्होंने केपीएमजी एनर्जी कॉनक्लेव में कहा, '6 महीने में डीजल सेक्टर डी-रेगुलेट हो जाएगा।' देश के ऑयल मार्केटिंग बिजनेस में सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी 95 पर्सेंट है। वे अभी सरकार की ओर से तय कीमत पर डीजल बेचती हैं। यह उसकी वास्तविक कीमत से कम होती है। सरकार ने इस साल जनवरी में ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को डीजल के दाम में हर महीने 50 पैसे लीटर बढ़ोतरी की इजाजत दी थी। सरकार ने डीजल पर धीरे-धीरे सब्सिडी खत्म करने के लिए यह कदम उठाया था।

मोइली ने बाद में मीडिया से कहा, 'डीजल पर लॉस घटकर 2.50 रुपए प्रति लीटर रह गया था। हालांकि, डॉलर और दूसरी अहम विदेशी करेंसी के मुकाबले रुपए की वैल्यू काफी कम होने के चलते यह बढ़कर 14 रुपए लीटर तक चला गया था। अभी डीजल पर ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को 9.28 रुपए लीटर का लॉस हो रहा है।' उन्होंने कहा कि डीजल के दाम में हर महीने बढ़ोतरी पहले की योजना के मुताबिक होती रहेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव और आगामी लोकसभा चुनाव के चलते हर महीने डीजल के दाम बढ़ाने की योजना पर असर नहीं पड़ेगा। मोइली ने यह भी दावा किया कि केंद्र में अगली सरकार लगातार तीसरी बार यूपीए की बनने जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You