काला धन: विदेशी ग्राहकों पर निगरानी बढ़ाएंगे स्विस बैंक

  • काला धन: विदेशी ग्राहकों पर निगरानी बढ़ाएंगे स्विस बैंक
You Are HereInternational
Sunday, December 01, 2013-3:10 PM

जिनिवा/नई दिल्ली: काले धन के प्रवाह पर अंकुश लगाने के इरादे से स्विस बैंक विदेशी ग्राहकों के मामले में जांच व्यवस्था दुरस्त करेंगे और उन्हें अंतरराष्ट्रीय कर नियमों का अनुपालन करने की सलाह देंगे।      

स्विट्जरलैंड के कर मामलों में अन्य देशों के साथ सूचनाओं के स्वत: आदान-प्रदान व्यवस्था पर सहमति होने के मद्देनजर इस दिशा में नए कदम उठाए जा रहे हैं। स्विट्जरलैंड बैंकिंग गोपनीयता के लिए  चर्चित है और भारत में यह माना जाता है कि वह काले धन का सुरक्षित पनाहगाह है।

वैश्विक नियमन के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिये स्विस बैंकर्स एसोसिएशन (एसबीए) ने बैंक को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि देश में काले धन का प्रवाह न हो और इसके लिए कदम सुझाए हैं।

एसबीए की सिफारिशों के अनुसार बैंकों से ऐसी किसी भी संपत्ति को स्वीकार नहीं करने को कहा गया है जहां उन्हें पता है कि इस पर कर का भुगतान नहीं किया गया है। यह उन सभी विदेशी ग्राहकों पर लागू होगा जो स्विट्जरलैंड में बैंक बदलते रहते हैं।

एसोसिएशन ने बयान में कहा, ‘‘ग्राहकों के मामले में जांच व्यवस्था और दुरस्त करने के साथ बैंकों को यह सुनिश्चित करना है कि ग्राहक.....बिना कर का भुगतान किए संपत्ति स्विट्जरलैंड नहीं लाए।’’

एसबीए की वेबसाइट के अनुसार 1912 में गठित एसबीए में 333 संस्थागत सदस्य तथा 18,700 व्यक्तिगत सदस्य हैं। इसके अलावा एसोसिएशन ने स्विस बैंकों से यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि ग्राहक नियामकीय जरूरतों को पूरा करे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You