‘किसानों को अधिक ऋण मुहैया कराए बैंक’

  • ‘किसानों को अधिक ऋण मुहैया कराए बैंक’
You Are HereBusiness
Saturday, December 07, 2013-10:23 AM

नई दिल्ली: देश में इस वर्ष मजबूत मानसून के मद्देनजर ऋण की जबरदस्त मांग को देखते हुए केंद्र सरकार ने वित्तीय संस्थानों को किसानों को अधिक से अधिक ऋण मुहैया कराने की अपील की है। वाणिज्य एवं उद्योग मंडल एसोचैम द्वारा ‘वित्तीय उत्पादों में निवेश’ विषय पर आयोजित सम्मेलन के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री जे.डी.सीलम ने कहा कि बेहतर मानसून से लाभ उठाने के लिए सरकार ने वित्तीय संस्थानों से किसानों को अधिक से अधिक ऋण देने का आग्रह किया है।

किसानों की ऋण आवश्यकता को पूरा करने के लिए सरकार इसके बजट में बढोतरी करने की तैयारी कर रही है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही रोजमर्रा की आवश्यक वस्तुओं दूध, अंडे, फलों और सब्जियों की आसमान छूती कीमत पर भी लगाम लगाने की जरुरत है। इस बार मानसून की स्थिति मजबूत रहने से बेहतर पैदावार होने की उम्मीद है जिससे आगे खाद्य पदार्थों की कीमतों में और कमी आएगी।

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष अर्थव्यवस्था की मजबूती को देखते हुए चालू खाता घाटा (कैड) के 60 अरब डॉलर के करीब रहने की उम्मीद है। सीलम ने देश के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले आर्थिक स्तर पर कमजोर 40 फीसदी आबादी के बैंकों तक पहुंच नहीं होने पर ङ्क्षचता व्यक्त करते हुए कहा कि कृषि क्षेत्र में निवेश आधार का विस्तार किए जाने की जरुरत है। उन्होंने देश में निवेश के अनुकूल माहौल तैयार किए जाने की जरुरत पर भी बल दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You