ATM का इस्तेमाल करना होगा महंगा!

  • ATM का इस्तेमाल करना होगा महंगा!
You Are HereBusiness
Saturday, December 07, 2013-11:15 AM

नई दिल्ली: बंगलूरू में महिला पर एटीएम के अंदर हुए गंभीर हमले के बाद बैंकों के ऊपर सुरक्षा बढ़ाने का दबाव बढ़ गया है। भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार अगस्त 2013 तक देश में कुल 1,27,950 एटीएम हैं। इनमें से 50 फीसदी से ज्यादा ऐसे एटीएम हैं, जिनकी सुरक्षा निजी एजेंसियों के भरोसे हैं। इन एटीएम से करीब 40 फीसदी एटीएम ऐसे हैं, जहां सुरक्षा के लिए कोई गार्ड नहीं नियुक्त किए गए हैं। यानी देश में करीब 25 हजार एटीएम ऐसे हैं, जहां पर गार्ड नियुक्त नहीं है।

इसी के तहत आरबीआई से बैंकों ने कहा है कि उन्हें सुरक्षा के खर्च को उठाने के लिए ग्राहकों से ली जाने वाली फीस में बढ़ोतरी की अनुमति दी जाए। सूत्रों के अनुसार बैंकों ने आरबीआई के सामने यह प्रस्ताव रखा है कि ग्राहकों को मिलने वाली मुफ्त ट्रांजैक्शन की सीमा को पांच से घटाकर तीन कर दिया जाय। इसके अलावा दूसरे ट्रांजैक्शन पर भी फीस बढ़ाने की अनुमति मिले।

बैंकों के अनुसार यदि उन्हें गार्ड रखने की अनिवार्यता और एटीएम के बाहर सीसीटीवी कैमरे जैसी सुविधाएं देनी है, तो उनकी लागत बढ़ेगी। जिसे देखते हुए ग्राहकों के ट्रांजैक्शन पर लिए जाने वाले शुल्क में बढ़ोतरी की जाए। एटीएम ट्रांजैक्शन की फीस में बढ़ोतरी पर अंतिम फैसला भारतीय रिजर्व बैंक को करना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You