विदेशी बाजारों में रुपए में ऊंचे डेरिवेटिव कारोबार से वित्त मंत्री चिंतित

  • विदेशी बाजारों में रुपए में ऊंचे डेरिवेटिव कारोबार से वित्त मंत्री चिंतित
You Are HereBusiness
Saturday, December 14, 2013-5:23 PM

मुंबई: रुपए की विनिमय दर में जारी उतार-चढाव के बीच वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने आज कहा कि विदेशी बाजारों में रुपए का बढ़ता डेरिवेटिव कारोबार चिंता का विषय है ऐसे में स्थानीय मुद्रा बाजार की मजबूती के लिए और वित्तीय सुधारों की आवश्यकता है। चिदंबरम ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के समारोह में कहा, ‘‘हमारी मुख्य चिंता घरेलू बाजारों में रुपए में नुकसान को लेकर है, बिना डिलीवरी के वायदा (एनडीएफ) में रुपए का बढ़ता कारोबार उसके आधिकारिक घरेलू एक्सचेंज में होने वाले कारोबार की मात्रा से कई गुणा ज्यादा बताया जाता है।’’

एनडीएफ बिना डिलीवरी का वायदा होता है, और इसे विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में वायदा सौदों के लिए एक साधन के रूप में उपयोग किया जाता है। इस प्रकार के सौदे पूर्ण रूप से परिवर्तनीय मुद्राओं में होते हैं। रुपया फिलहाल पूर्ण रूप से परिवर्तनीय नहीं है। सामान्य तौर पर एनडीएफ एक तरह का सट्टेबाजी पर आधारित कारोबार है और अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में अमेरिकी डॉलर की तुलना में रुपए की विनिमय दर 68.85 रुपए प्रति डॉलर के सर्वकालिक निम्न स्तर तक गिरने के पीछे एक बड़ी वजह बताया गया।

फारेक्स बाजार में कल डॉलर के मुकाबले रुपया 29 पैसे की गिरावट के साथ 62.12 रुपए प्रति डॉलर पर आ गया। तीन दिसंबर के बाद यह रुपए की न्यूनतम विनिमय दर है। घरेलू बाजार के वायदा सौदों और विदेशी बाजार में एनडीएफ के जरिए सौदों के बढ़ते आकार पर चिंता व्यक्त करते हुए चिदंबरम ने कहा कि इस मामलों पर तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है, ताकि घरेलू मुद्रा डेरिवेटिव बाजार की वृद्धि सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की चुनौतियों से वैश्विक विनिमय बाजार में रुपए के वायदा सौदे को भी प्रभावित करेगा। चिदंबरम ने कहा, ‘‘हमें वित्तीय क्षेत्र के सुधार में तेजी लाने के प्रयास करने होंगे।’’ उन्होंने बताया कि सरकार कई सुधार लागू करने के लिए ठोस प्रयास कर रही है। पूंजी बाजार के अन्य सुधारों के बारे में उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रतिभूति कारोबार कर (एसटीटी) को कम किया, सूचीबद्ध सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के कारोबार प्लेटफार्म बनाया और निवेशकों के लिए सुरक्षा कार्यक्रम शुरू किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You