RBI की रेपो रेट 7.75 फीसदी पर स्थिर, कोई बदलाव नहीं

You Are HereBusiness
Wednesday, December 18, 2013-4:17 PM

मुंबई: बढती महंगाई और चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में विकास पर दबाव बनने की आशंका से चिंतित भारतीय रिजर्व बैंक ने आज सभी नीतिगत दरों में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया। बढती महंगाई को नियंत्रित करने के लिए हांलाकि विश्लेषको ने रेपो और रिवर्स रेपो में एक चौथाई प्रतिशत की बढोतरी की उम्मीद जतायी थी।

रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष की ऋण एवं मौद्रिक नीति की तीसरी तिमाही मध्य समीक्षा में अल्पकालिक ऋण दरो ‘रेपो और रिवर्स रेपो’ के साथ ही नकद आरक्षित अनुपात, बैंक दर और मार्जिनल स्टैंडिग सुविधा में कोई बदलाव नहीं किया है। रेपा दर 7.75 प्रतिशत, रिवर्स रेपा दर 6.75 प्रतिशत, बैंक दर 8.75 प्रतिशत और एमएसएफ् 8.75 प्रतिशत तथा सीआरआर 4.0 प्रतिशत पर यथावत है।

इस वर्ष नवंबर में थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति के साथ ही उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित खुदरा महंगाई में हुई वृद्धि से ब्याज दरो में बढोतरी किए जाने की आशंका जताई जा रही थी लेकिन रिजर्व बैंक ने अनुमानो को पीछे छोडते हुए नीतिगत दरो को यथावत बनाये रखा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You