भारतीय अरबपति नाडार ने मारी बाजी अंबानी 35वें स्थान पर फिसले

  • भारतीय अरबपति नाडार ने मारी बाजी अंबानी 35वें स्थान पर फिसले
You Are HereBusiness
Saturday, December 28, 2013-10:07 AM

नई दिल्ली: भारतीय अरबपतियों के लिए वर्ष 2013 मिला-जुला रहा और कई के अकूत खजाने में बढोतरी हुई तो कुछ को खजाने में सेंध लगी। दुनिया के 300 अरबपतियों की ब्लूमबर्ग की सूची में शामिल शीर्ष नौ भारतीय अरबपतियों में से चार की संपत्ति में कुल 10.7 अरब डॉलर का इजाफा हुआ जबकि बाकी पांच की संपत्ति में कुल 6.2 अरब डॉलर की कमी आई। इस बीच दुनिया के अरबपतियों के बीच 18 वे पायदान पर रहे रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी 35वें स्थान पर फिसल गए।

संपत्ति में इजाफे के मामले में एचसीएल के शिव नाडार पहले स्थान पर रहे जबकि ओपी जिंदल समूह की प्रवर्तक पार्वती जिंदल की संपत्ति सबसे ज्यादा 2.8 अरब डॉलर घटीं। सूची में शामिल शीर्ष नौ भारतीय अरबपतियों में से जिन शीर्ष चार ने अपने खजाने में इस साल अच्छी खासी बढोतरी की उसमें से तीन सूचना प्रौद्योगिकी और फार्म उद्योग के क्षेत्र से हैं जबकि चौथे पालोनजी मित्री टाटा समूह से हैं। डॉलर की तुलना में रुपए में आई गिरावट ने देशी अरबपतियों के अकूत खजाने में बढोतरी करने में बडी भूमिका निभाई। चूकिं इन अरबपतियों का कारोबार निर्यात पर ज्यादा निर्भर है इसलिए इन्हें रुपए में आई गिरावट का सबसे ज्यादा फायदा मिला।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You