अनिश्चितता का स्रोत बन सकता है लोकसभा चुनाव: रिजर्व बैंक

  • अनिश्चितता का स्रोत बन सकता है लोकसभा चुनाव: रिजर्व बैंक
You Are HereBusiness
Monday, December 30, 2013-4:25 PM

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि आगामी आम चुनाव के बाद अगर देश में राजनीतिक अस्थिरता हुई तो इससे अर्थव्यवस्था और भी कमजोर हो सकती है, जोकि पहले से ही मुश्किल दौर से गुजर रही है। केन्द्रीय बैंक ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि चुनाव के बाद अच्छा यही होगा कि एक स्थिर सरकार बने। रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने बैंक की वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट 2013 के प्राक्कथन में लिखा है, ‘‘आगामी आम चुनाव भी अनिश्चितता का एक संभावित स्रोत है।

 

एक स्थिर नई सरकार का गठन अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा होगा।’’ यह रिपोर्ट आज सुबह जारी की गई। राजन ने कहा कि राजनीतिक अस्थिरता होने पर निवेशकों का विश्वास और डिगेगा। उन्होंने कहा है, ‘‘वित्तीय प्रणाली को लेकर भरोसा पहले से ही कमजोर है। छह साल से स्थिति संकटपूर्ण है। मौजूदा हालात में निवेशक चाहते हैं कि नीतियां सुनिश्चित हों।’’

 

सरकार ने चालू वित्तवर्ष में आर्थिक वृद्धि दर पांच प्रतिशत से उपर रहने का अनुमान जताया है। कई विशेषज्ञों ने इसे चार प्रतिशत से थोड़ा बहुत ही उपर रहने की संभावना व्यक्त की है। रिजर्व बैंक की यह चेतावनी ऐसे समय आई है, जबकि कई राजनीतिक टीकाकारों का कहना है कि आम चुनाव के बाद संसद त्रिशंकु हो सकती है। नयी सरकार का गठन मई में होने की संभावना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You