ऊंचे रिटर्न का दावा करने वाली स्कीमें होती हैं फर्जी : सेबी

  • ऊंचे रिटर्न का दावा करने वाली स्कीमें होती हैं फर्जी : सेबी
You Are HereBusiness
Monday, January 06, 2014-12:05 AM

मुम्बई: पोंजी स्कीमों की समस्या से निपटने के लिए सही वित्तीय उत्पाद तक आम निवेशकों की पहुंच सुनिश्चित करने की वकालत करते हुए बाजार नियामक सेबी ने कहा है कि यद्यपि बाजार में कई अच्छे उत्पाद उपलब्ध हैं लेकिन वे अवैध कोषों द्वारा किए जा रहे ऊंचे रिटर्न दावों से मेल नहीं खाते।

सेबी चेयरमैन यू.के. सिन्हा ने कहा कि कोई भी अच्छा उत्पाद या वास्तविक निवेश साल-दर-साल 20, 30, 40 प्रतिशत रिटर्न का दावा नहीं कर सकता। वास्तव में ये ऊंचे रिटर्न का दावा करने वाली स्कीमें फर्जी होती हैं। पिछले कुछ वर्षों में देश में अवैध स्कीमें कुकुरमुत्ते की तरह आ गई हैं जिनमें से कइयों की प्रकृति पोंजी कोषों की है जहां निवेशकों को शुरूआत में भारी रिटर्न दिया जाता है और बाद में स्कीम संचालक सभी निवेशकों को ठग कर लापता हो जाता है।

वहीं सेबी ने पिरामिड साईमारा शेयरों के कारोबार में धोखाधड़ी को लेकर 5 कंपनियों के खिलाफ जांच पूरी कर ली है। भारतीय पूंजी बाजार के सबसे बड़े भेदिया कारोबार मामले में मुख्य आरोपी निर्मल कोटेचा के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। ये सभी पांचों इकाइयां प्रमुख आरोपी निर्मल कोटेचा की प्रतिभूति बाजार संबंधी गतिविधियों को मदद करने तथा बढावा देने की दोषी पाई गई हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You