नए वर्ष में भी कम नहीं होगी रुपए की मुश्किलें

  • नए वर्ष में भी कम नहीं होगी रुपए की मुश्किलें
You Are HereBusiness
Thursday, January 09, 2014-11:59 AM

नई दिल्ली: नए वर्ष में भी एशियाई मुद्राओं विशेषकर भारतीय रुपए की मुश्किलें कम होती नहीं नजर आ रही है। वर्ष 2013 की तरह इस वर्ष भी रुपए में उथल पुथल रहने की आशंका है। एचएसबीसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2013 में लगातार तीसरे वर्ष अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया कमजोर रहा। रिजर्व बैंक की सख्त मौद्रिक नीतियों की वजह से 28 अगस्त को डालर की तुलना में रुपया अब तक के रिकार्ड निचले स्तर 68.80 रुपया प्रति डालर पर आ गया।

हालांकि मौद्रिक नीतियों की सख्ती से चालू खाता घाटा को कम करने के साथ विदेशी मुद्रा भंडार बढाने में मदद मिली है। वर्तमान में रुपया 62 रुपए प्रति डालर के करीब है। पिछले वर्ष 30 जुलाई और 20 सितंबर के बीच अल्पकालिक रिण दरों में 0.50 प्रतिशत तक की बढोतरी की गई है। इसके अलावा आरबीआई ने लगातार गिरते रुपए को थामने के लिए आयात नियमों को कडा बनाने के साथ ही मुद्रा अदलाबदली खिडकी की व्यवस्था की ताकि तेल आयातकों की डालर मांग को नियंत्रित किया जा सके।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You