अब नहीं बना सकेंगे नकली डिग्री, स्मार्टफोन बताएगा असलियत

  • अब नहीं बना सकेंगे नकली डिग्री, स्मार्टफोन बताएगा असलियत
You Are HereBusiness
Sunday, January 12, 2014-11:43 AM

अब आपकी डिग्री के बारे में स्मार्टफोन बताएगा कि आपकी डिग्री असली है या नकली। ये खास पहल की है उत्तर प्रदेश टेक्निकल यूनिवर्सिटी (यूपीटीयू) ने। नौकरी हथियाने के लिए कुछ लोग डिग्री में हेरफेर कर देते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं चल सकेगा। स्मार्ट फोन से असली या नकली डिग्री का पता लगाने के लिए क्यूआर स्कैनर की जरुरत होगी। यूनिवर्सिटी ने इस बार से छात्रों की डिग्री पर क्विक रेस्पांस कोड भी छापा है। इसे मोबाइल पर स्कैन करते ही डिग्री पर छपा यह यूनीक कोड किसी भी डिग्री की असलियत बता देगा।

यूपीटीयू ने पिछले साल अपनी डिग्री पर बार कोड नंबर प्रिंट किया था। इस बार कोड को यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर एंटर करते ही छात्र की पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। यूनिवर्सिटी ने डिग्री और मार्कशीट को और सुरक्षित करने के लिए भी इस बार नई तकनीक अपनाई है। यूनिवर्सिटी की ओर से जारी की गई डिग्री में बने क्यूआर कोड से छात्र की पूरी कुंडली ही सबके सामने आ जाएगी।

कोड को स्मार्ट फोन से स्कैन करते ही छात्र का नाम, उसकी क्लास और दूसरी जानकारियां भी प्राप्त की जा सकेंगी। नए सेशन से इस डिग्री में छात्र के हर सेमेस्टर के नंबर भी दिए जाएंगे साथ ही साथ क्यूआर कोड में यह डाटा भी अपलोड रहेगा कि उसने कितनी बार बैक पेपर या इंप्रूवमेंट दिया है। ऐसा करने से फर्जीवाड़ा रुकेगा साथ ही जांच करने में समय भी बहुत कम लगेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You