धोखाधड़ी की शिकार टाटा स्टील ने दी कार्रवाई की चेतावनी

  • धोखाधड़ी की शिकार टाटा स्टील ने दी कार्रवाई की चेतावनी
You Are HereBusiness
Sunday, January 12, 2014-4:52 PM

जमशेदपुर: देश की अग्रणी इस्पात कंपनी टाटा स्टील ने झारखंड के कोडरमा में उसके साथ 427 एकड़ जमीन के खरीद में हुई धोखाधड़ी पर गहरी नाराजगी जताते हुए संबंधित लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रही है। ज्ञातव्य है कि कंपनी ने यह जमीन जिले के डोमचांच अंचल के तराई गांव में निजी विक्रेताओं से खरीदी थी।

जिले के राजस्व और वन विभाग के रिकार्ड में इस जमीन से जुड़े दस्तावेजों को सही बताया गया था जबकि बाद में इसके विस्तृत सर्वे नक्शे की जांच में पता चला कि इस तरह की कोई जमीन असल में है ही नहीं। कंपनी ने कल शाम यहां जारी बयान में कहा कि राज्य में सरकार की ओर से भूमि बैक की सुविधाएं नहीं होने के चलते कंपनियों को अपनी जरूरतों के लिए निजी लेन देन के जरिए जमीन खरीदनी पड़ती है।

ऐसे मामलों में लैंड फैसिलिटेटर की सहायता, सरकारी अधिकारियों तथा वकील की पुष्टि आदि के बाद भी खरीदी गई जमीन अगर फर्जी निकलती है तो इसमें मिलीभगत की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। जिला राजस्व विभाग को इस फर्जी जमीन की स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन के मद में एक करोड़ 56 लाख रुपए मिल गए और फर्जी भूमालिकों ने भी चार करोड़ 78 लाख ले लिए। बयान में कहा गया है कि इस मामले में इसे भारी नुकसान हुआ है तथा यह उपयुक्त कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रही है।

ज्ञातव्य है कि हाल में इस मामले के उजागर होने के बाद इस संबंध में निबंधन पदाधिकारी और भूमि विक्रेता समेत 20 से अधिक लोगों के खिलाफ पहले से कोडरमा थाने में मामला दर्ज किया गया है तथा निबंधन कार्यालय के प्रधान सहायक को गिरफ्तार भी किया गया है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You