अगले दो दशक में तेल उत्पादन 3 से 4 गुना बढाने की जरुरत: मनमोहन

  • अगले दो दशक में तेल उत्पादन 3 से 4 गुना बढाने की जरुरत: मनमोहन
You Are HereBusiness
Sunday, January 12, 2014-4:54 PM

ग्रेटर नोएडा: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अगले दो दशक में घरेलू ऊर्जा आपूर्ति को तीन से चार गुना बढाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि आर्थिक विकास के लिए किफायती दाम पर पर्याप्त ऊर्जा आपूर्ति जरूरी है। सिंह ने आज पेट्रोटेक 2014 का शुभारंभ करते हुए कहा कि भारत अभी दुनिया का सातंवा बडा प्रेट्रोलियम उत्पादक देश है। दुनिया के कुल उत्पादन में भारत की हिस्सेदारी 2.5 प्रतिशत है। इसे अगले दो दशक में तीन से चार गुना बढाने की जरुरत है।

भारत अभी दुनिया का चौथा बडा पेट्रोलिमय उपभोक्ता देश है और वर्ष 2020 तक यह तीसरा बडा देश बन जाएगा। उन्होंने कहा कि 12वीं पंचवर्षीय योजना में तीव्र विकास दर हासिल करने के लिए नीतिगत व्यवस्था की गई है और विशेषकर हाइड्रोकार्बन पर खास ध्यान दिया गया है। घरेलू मांग और आपूर्ति के बीच के अंतर को पाटने की आवश्यकता बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत ने घरेलू और वैश्विक कंपनियों को हाइड्रोकार्बन की खोज और खनन की संभावनाओं का पता लगाने के लिए स्थाई तंत्र और नीति बनाई है।

उन्होंने कहा कि ऊर्जा सुरक्षा को हासिल करने के लिए दूसरे विकल्पों पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इसके लिए पिछले कुछ महीनों में ऊर्जा नीति में कई बडे बदलाव किए गए हैं और इससे आप सभी अवगत होंगे। उन्होंने कहा कि वैश्विक तेल एवं गैस उद्योग को नई प्रौद्योगिकी और नवाचार तथा उभरती हुई चुनौतियों से निबटने के लिए रचनात्मक कारोबारी मॉडल अपनाने की आवश्यकता है। इसको हासिल करने के लिए विभिन्न पक्षों को भागीदारी करने पर विचार करना चाहिए जिससे पेट्रोलियम उत्पादों के खनन में सुधार होगा और गहरे समुद्र में खनन एवं खोज में मदद मिलेगी। इससे ऊर्जा के गैर परंपरागत स्रोतों को तलाशन में भी मदद मिलेगी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You