‘कोहरे में उड़ान भरने के लिए प्रशिक्षित पायलट तैनात करें कंपनियां’

  • ‘कोहरे में उड़ान भरने के लिए प्रशिक्षित पायलट तैनात करें कंपनियां’
You Are HereBusiness
Monday, January 13, 2014-12:02 PM

नई दिल्ली: विमानन नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने विमानन कंपनियों को कड़ी चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने कोहरे में विमान उड़ा सकने में प्रशिक्षित पायलट तैनात नहीं किए तो ऐसे मौसम में उन्हें दिल्ली में परिचालन से रोक दिया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार डीजीसीए ने कैटेगरी-तीन इंस्ट्रयूमेंट लैंडिंग प्रणाली (कैट-तीन आईएलएस) में प्रशिक्षित पायलट तैनात करने पर जोर दिया है।

इसके साथ ही इसने स्पष्ट किया है कि अगर मौसम विभाग कैट-तीन मौसमी हालात की भविष्यवाणी करता है तो राष्ट्रीय राजधानी में या इससे बाहर उड़ानों के परिचालन की अनुमति केवल प्रशिक्षित परिचालक दल को ही दी जाएगी। सूत्रों ने कहा, ‘इसमें विफल रहने पर, चूककर्ता विमानन कंपनियों द्वारा कम दृश्यता स्थिति में राष्ट्रीय राजधानी को तथा से, परिचालन रोक दिया जाएगा।’ इसके अनुसार यह जिम्मेदारी विमानन कंपनियों की है कि वे मौसम के बारे में नवीनतम जानकारी लें और कैट-तीन प्रशिक्षित कर्मचारी तैनात करें।

इस बारे में एक बैठक डीजीसीए प्रमुख प्रभात कुमार की अध्यक्षता में हुई जिसमें विभिन्न विमानन तथा हवाई अड्डा कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल हुए थे। इसमें दिल्ली हवाई अड्डे को साल के आखिर तक ‘जीरो डायवरजनरी’ बनाने के लिए कदमों पर तकनीकी समिति बनाने का फैसला किया गया है। यह समिति संयुक्त महानिदेशक ललित गुप्ता की अध्यक्षता में होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You