एफडीआई नियमों में और स्पष्टता चाहती है वॉल-मार्ट

  • एफडीआई नियमों में और स्पष्टता चाहती है वॉल-मार्ट
You Are HereBusiness
Friday, January 24, 2014-4:41 PM

दावोस: अमेरिका की खुदरा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी वॉलमार्ट ने कहा है कि वह भारत के बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रवेश से पहले नियमों में और स्पष्टता चाहती है। फिलहाल कंपनी देश के थोक खुदरा कारोबार में विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है। वॉलमार्ट के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डग मैकमिलन ने कहा, ‘‘हम भारत को लेकर उत्साहित हैं और हम ऐसा करना जारी रखेंगे। हम देश की क्षमता देख रहे हैं और हमारी दीर्घावधि की दृष्टि है। फिलहाल हम अपने ‘बेस्ट प्राइस’ ब्रांड के तहत थोक कारोबार पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।’’

यहां विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की बैठक में शामिल होने आए मैकमिलन ने कहा, ‘‘हम इस फार्मेट के जरिएदुकानदारों, किराना व किसानों को सेवाओं की पेशकश जारी रखेंगे और भारत में अपने इस कारोबार को आगे बढ़ाएंगे।’’ वॉलमार्ट द्वारा हाल में नई कंपनी के पंजीकरण के बारे में पूछे जाने पर कहा कि कंपनी भविष्य के लिए तैयारी कर रही है लेकिन फिलहाल हमारा ध्यान बेस्ट प्राइस के कैश एंड कैरी फार्मेट पर है। वॉल-मार्ट ने हाल में भारत में नई कंपनी ‘वॉलमार्ट इंडिया प्राइवेट लि.’ का पंजीकरण कराया है।

बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रवेश के समय के बारे में पूछे जाने पर मैकमिलन ने कहा कि अभी कोई समय बता पाना संभव नहीं है, क्योंकि यह इस बात पर निर्भर करेगा कि ‘भारत के लोग और भारत सरकार’ प्रत्यक्ष विदेशी निवेश नियमन के बारे में क्या निर्णय लेती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You