ईपीएफओ के न्यासियों की 5 फरवरी को होगी बैठक

  • ईपीएफओ के न्यासियों की 5 फरवरी को होगी बैठक
You Are HereBusiness
Saturday, January 25, 2014-12:04 PM

नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के न्यासियों की 5 फरवरी को बैठक होगी। इसमें न्यूनतम मासिक पेंशन 1,000 रुपए करने के लिए योजना में संशोधन किया जाएगा। इससे इस योजना के तहत आने वाले 27 लाख पेंशनभोगियों को तत्काल फायदा होगा। ईपीएफओ का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) भविष्य निधि, पेंशन तथा कर्मचारी जमा से संबद्ध बीमा जैसे सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के तहत मासिक वेतन सीमा बढ़ाकर 15,000 रुपए करने के लिए ईपीएफओ योजना 1952 में संशोधन पर निर्णय करेगा।   

फिलहाल जिन कर्मचारियों का मूल वेतन (महंगाई भत्ता समेत) 6,500 रुपए तक मिलता है, वे ईपीएफओ के दायरे में आते हैं। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, ‘‘वित्त मंत्रालय ने न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपए प्रति माह उपलब्ध कराने और वेतन सीमा बढ़ाकर 15,000 करने के श्रम मंत्रालय के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब दोनों निर्णय के मद्देनजर योजनाओं में संशोधन के लिए न्यासियो की 5 फरवरी को बैठक होगी।’’

इससे पहले, केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी जिसे श्रम मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय के पास भेजा। सूत्रों के अनुसार श्रम मंत्री की अध्यक्षता में सीबीटी की मंजूरी के बाद दोनों प्रस्ताव को केंद्रीय मंत्रिमंडल के समक्ष रक्षा जाएगा क्योंकि इसके लिए सरकार को कोष का प्रावधान करना पड़ेगा। सूत्र ने यह भी कहा कि वित्त मंत्री पी चिदंबरम अगले महीने अपने अंतरिम बजट में न्यूनतम 1,000 रुपए मासिक पेंशन देने की घोषणा कर सकते हैं।

ईपीएफओ की इस योजना के तहत 27 लाख पेंशनभोगियों को तत्काल फायदा होगा। योजना में फिलहाल कुल 44 लाख पेंशनभोगी हैं। इसमें से 27 लाख (5 लाख विधवाओं समेत) को 1,000 रुपए से कम पेंशन मिलती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You