क्रैश टेस्ट में छोटी सेगमेंट की गाडियां फेल

  • क्रैश टेस्ट में छोटी सेगमेंट की गाडियां फेल
You Are HereBusiness
Saturday, January 25, 2014-4:40 PM

नई दिल्ली: आमने सामने टक्कर होने की स्थिति में वाहन को होने वाली क्षति का आंकलन करने वाले परीक्षणों में छोटी गाडियों की अपेक्षा बडी गाडियां ज्यादा सुरक्षित साबित हुई हैं। अमरीका के राजमार्ग सुरक्षा बीमा संस्थान (आईआईएचएस) की ओर से ग्यारह छोटी गाडियों में किए परीक्षणों में सिर्फ शेवरले की स्पार्क को छोडकर अन्य सभी गाडियां कमजोर साबित हुई हैं। 

हालांकि टक्कर की स्थिति में शेवरले स्पार्क भी सवारियों के बचाव के लिहाज से सुरक्षित नहीं पाई गई है। आईआईएचएस के अनुसार छोटी गाडियों का वजन कम होने तथा ईंजन और चालक के बीच की दूरी कम होने के कारण टक्कर की स्थिति में यह बडी गाडियों की अपेक्षा ज्यादा असुरक्षित होती हैं। इस श्रेणी में होंडा की फिट और फएटि 500 सबसे असुरक्षित गाडियां साबित हुई हैं। फोर्ड फएस्टिा इस नजरिए से मध्यम श्रेणी की कार मानी गई जबकि टोएटा प्रियस को एक पायदान नीचे रखा गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You