'फेकऑफ' ऐप बचाएगा फेसबुक पर फर्जी खातों से

  • 'फेकऑफ' ऐप बचाएगा फेसबुक पर फर्जी खातों से
You Are HereBusiness
Wednesday, January 29, 2014-10:58 AM

नई दिल्ली: सोशल नेटवर्किंग साइट्स फेसबुक पर बहुत सारे लोग फर्जी खाते बनाते हैं जिस कारण साइबर अपराध के मामले बढ़ते हैं। फर्जी खातों की पहचान के लिए इजरायल के एक नागरिक एलिरन शैचर ने एप्लिकेशन ‘फेकऑफ’ विकसित किया है। जो हमें फेसबुक पर फर्जी खातों की पहचान में मदद करेगा।

एलिरन शैचर ने बताया कि हाल के आंकड़े दिखाते हैं कि करीब 1.35 अरब फेसबुक उपभोक्ताओं में से कम से कम 10 प्रतिशत विश्वसनीय नहीं हैं। इसके अलावा लाखों उपभोक्ता ऐसे हैं, जो फर्जी खाता बनाते हैं। फर्जी प्रोफाइलों को अनेक समूहों में बांटा गया है जिनमें आपराधिक, व्यावसायिक और मनोवैज्ञानिक आदि हैं।

फेकऑफ का इस्तेमाल दो महीने से किया जा रहा है और अब तक 15,000 से अधिक लोग इसका इस्तेमाल करने वालों की सूची में शामिल हो गए हैं। अधिकतर फर्जी खाते भारत और तुर्की के शेचर ने कहा कि इस ऐप में जांच-पड़ताल से गुजरते हुए 24 प्रतिशत प्रोफाइल फर्जी पाए गए। फेसबुक ने भी कहा है कि उसके प्लेटफॉर्म पर करीब 14.3 करोड़ खाते फर्जी या नकली हो सकते हैं। इनमें से अधिकतर भारत और तुर्की जैसे विकासशील देशों के हैं।

शेचर के मुताबिक 'फेकऑफ' ऐप परिष्कृत गणना प्रणाली का इस्तेमाल करके फेसबुक पर दोस्ती करने वाले संदिग्ध लोगों के हावभाव को समझता है और उन्हें 1 से 10 के अनुसार अंक देता है। वह हर संदिग्ध फेसबुक फ्रेंड की टाइमलाइन पर 365 दिन की गतिविधियों की खाक छानता है और असामान्य गतिविधियां भांपता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You