माइक्रोसॉट के सीईओ पद के लिए भारत में जन्मा एक और अधिकारी दौड़ में

  • माइक्रोसॉट के सीईओ पद के लिए भारत में जन्मा एक और अधिकारी दौड़ में
You Are HereBusiness
Monday, February 03, 2014-9:15 AM

न्यूयॉर्क: सत्या नडेला को माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ नामित करने की अधिक संभावना है लेकिन इस शीर्ष पद के लिए भारत में जन्मे एक अन्य प्रौद्योगिकी अधिकारी के नाम की चर्चा चल रही है। प्रौद्योगिकी उद्योग पर केंद्रित वेबसाइट सिलिकॉन एंगल के अनुसार गूगल क्रोम और एप्स के लिए मुख्य अधिकारी 42 वर्षीय सुंदर पिचाई माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ पद के लिए ‘‘शीर्ष पसंद’’ हैं और उनके साथ चर्चा जोर-शोर से चल रही है।

सिलिकॉन एंगल ने नियुक्ति टीम के करीबी सूत्रों के हवाले से कहा कि पिचाई बाहरी उम्मीदवारों में आगे चल रहे हैं और नियुक्ति समिति के साथ उनकी बातचीत चल रही है। पिचाई एंड्रॉयड, क्रोम और एप्स के लिए गूगंल में उपाध्यक्ष हैं। उन्होंने आईआईटी खडग़पुर से बीटेक की डिग्री हासिल की है। उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से एमटेक और पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से एमबीए की पढ़ाई की है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि समूचे गूगल में एंड्रॉयड एकीकरण में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और ऐसी अफवाह थी कि वह ट्विटर में उच्च पद पर जा रहे हैं। गूगल ने उन्हें कंपनी में बने रहने के लिए पांच करोड़ डॉलर दिए। माइक्रोसॉफ्ट के नए सीईओ की घोषणा इस सप्ताह करने की उम्मीद है। कंपनी के 38 वर्षों के इतिहास में जो भी व्यक्ति बनेगा वह तीसरा सीईओ बनने का गौरव हासिल करेगा। इससे पहले कंपनी के सह संस्थापक बिल गेट्स और मौजूदा स्टीव बालमर इसके सीईओ रहे हैं। दुनिया की सबसे अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनी में शीर्ष पद के लिए पिचाई और एक अन्य भारतीय का नाम उभरना अप्रत्याशित है और शीर्ष पदों पर पहुंचने वाले भारत में जन्मे अधिकारियों की बढ़ती संख्या को दर्शाता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You