कॉल दरें होंगी महंगी! 60 हजार करोड़ से अधिक में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी

  • कॉल दरें होंगी महंगी! 60 हजार करोड़ से अधिक में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी
You Are HereBusiness
Friday, February 14, 2014-10:32 AM

नई दिल्ली: देश में टू जी स्पेक्ट्रम की 10 दिनों से जारी नीलामी 68वें चक्र में बंद हो गई। मुंबई जैसे महानगरों और कई अन्य शहरों में महत्वपूर्ण स्पेक्ट्रम हासिल करने में सफलता पाई। इससे सरकार को 61,162 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई हुई है।

वोडाफोन ने तीन महानगरों में 900 मेगाहर्टज बैंड तथा 11 सर्किलों में 2जी 1800 मेगाहर्टज में स्पेक्ट्रम के लिए 19,600 करोड़ रुपए की बोली लगाई। कंपनी का दिल्ली, मुंबई और कोलकाता का लाइसेंस इस साल नवंबर में समाप्त हो रहा है और उसे परिचालन जारी रखने के लिए स्पेक्ट्रम की जरुरत थी। एयरटेल ने 900 मेगाहर्टज में दिल्ली और कोलकाता के लिए 900 मेगाहर्टज में स्पेक्ट्रम फिर से हासिल किया और मुंबई के लिए इसी बैंड में स्पेक्ट्रम प्राप्त किया। इसके अलावा 15 सर्किलों में 1,800 मेगाहर्टज स्पेक्ट्रम हासिल किया। कंपनी ने 900 और 1800 मेगाहर्टज बैंड में कुल 115 मेगाहर्टज स्पेक्ट्रम के लिए 18,530 करोड़ रुपए की बोली लगाई।

इस दौरान दूरसंचार सचिव एम एफ फारूकी ने कहा है कि सरकार को तत्काल कम से कम 18296 करोड रुपए मिलने की संभावना है। शेष राशि 10 वर्षों में भुगतान की जानी है। उन्होंने कहा कि 1800 मेगाहट्र्ज बैंड में नीलामी के लिए पेश किए गए स्पेक्ट्रम में से 80 प्रतिशत के लिए बोली लगाई गई है जबकि 900 मेगाहट्र्ज बैंड में पेश किए गए पूरे स्पेक्ट्रम के लिए बोली लगाई गई है।

यूनिनोर 1800 मेगाहर्टज बैंड में पांच सर्किलों के लिए जबकि आइडिया इसी बैंड में 11 सर्किलों के लिए स्पेक्ट्रम हासिल किए। अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्यूनिकेशंस केवल एक सर्किल मुंबई में 1800 मेगाहर्टज में स्पेक्ट्रम हासिल किया। टाटा कम्यूनिकेशंस को कोई स्पेक्ट्रम नहीं मिला जबकि एयरसेल को पांच सर्किलों के लिए स्पेक्ट्रम मिले। दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा,  ‘मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि नीलामी पूरी हो गई। सरकार को कुल 61,162.22 करोड़ रुपये का राजस्व मिलेगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You