महत्वपूर्ण आर्थिक विधेयकों के पारित न होने से चिदंबरम निराश

  • महत्वपूर्ण आर्थिक विधेयकों के पारित न होने से चिदंबरम निराश
You Are HereNational
Monday, February 17, 2014-3:10 PM

नई दिल्ली: बीमा विधेयक जैसे प्रमुख वित्त विधेयकों के पारित न होने पर निराशा जाहिर करते हुए वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आज कहा कि इन विधेयकों के रास्ते में रूकावट पैदा करने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने वित्त वर्ष 2014-15 के लिए अंतरिम बजट पेश करते हुए कहा ‘‘मुझे यह कहते हुए अफसोस हो रहा है कि बीमा कानून संशोधन विधेयक और प्रतिभूति कानून संशोधन विधेयक संसद ऐसे कारणों से पारित नहीं किया गया जिसका विधेयक की पात्रता से कोई लेना-देना नहीं है।’’

बीमा विधेयक, राज्य सभा में 2008 से लटका हुआ है जिसके तहत बीमा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को बढ़ाकर 49 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा गया है। बीमा विधेयक को स्थाई समिति के पास भेजा गया था उसने अपनी रपट संसद को भेज दी है। प्रस्तावित प्रतिभूति कानून संशोधन विधेयक में बाजार नियामक सेबी को पोंजी योजनाओं पर लगाम लगाने, भेदिया कारोबार पर नियंत्रण के लिए फोन काल रिकार्ड मांगने और तलाशी-जब्ती के लिए और शक्तियां देने के प्रावधान हैं। पिछले साल राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने प्रतिभूति कानून में सुधार एक अध्यादेश जारी किया था जिसके तहत सेबी को और शक्तियां प्रदान की गई थीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You